आदर्श योग आध्यात्मिक केन्द्र के योग साधको द्वारा मनाई गई गीता जयंती 

इस ख़बर को शेयर करें:

भोपाल। गीता जयंती के अवसर पर योग गुरु महेश अग्रवाल,राष्ट्रीय प्रशिक्षण प्राप्त मधुमेह जागरूकता अभियान डॉ नरेन्द्र भार्गव, अश्विन व्योहार सहित योग साधक उपस्थित रहें, इस अवसर पर सामूहिक योग अभ्यास के साथ हवन आरती भी की गई एवं सभी लोग स्वस्थ रहें ऐसी कामना की गई |

योग गुरु महेश अग्रवाल ने गीता जयंती के अवसर पर कहा की गीता मात्र पुस्तक नहीं जीवन को सीखने व समझने का बहुत बड़ा माध्यम है।  गीता सम्पूर्ण जीवन को जीने की संहिता है। श्रीमद् भगवद् गीता जीवन के द्वन्दों से बाहर निकालती है व 21वीं सदी के डिजिटल युग में तनाव, दुविधा, अप्रसन्नता से मुक्ति का रास्ता श्रीमद्भगवद् गीता हमें दिखाती है। इसको अपने व्यवहार में शामिल कर ही स्थिर, सफल व दुविधा रहित जीवन की दिशा में हम आगे बढ़ सकते हैं।

उन्होंने कहा कि गीता का संदेश महाभारत के दौरान श्रीकृष्ण भगवान ने अर्जुन को दिया था। गीता की प्रासंगिकता हर युग में रही है। गीता का सार हम सभी के लिए आध्यात्मिक औषधि है। और योग प्राणायाम से हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को ठीक रख सकते है एवं देश समाज एवं परिवार की सेवा के कार्य स्वस्थ जीवन जीते हुए कर सकते है |

आदर्श योग आध्यात्मिक केन्द्र लगातार कई वर्षो से स्वर्ण जयंती पार्क में एवं वर्तमान में 9 महीनों से ऑनलाइन फेसबुक के माध्यम से निशुल्क सुबह एवं शाम को योग के द्वारा लोगों को स्वस्थ जीवन जीने की कला सीखा रहा है कोई अवकाश नहीं रखते हुए सभी धार्मिक सामाजिक राष्ट्रीय त्यौहार उत्साह पूर्वक मनाते है साधकों के जन्मदिन पर वृक्षारोपण के साथ लोगों को स्वच्छता सुरक्षा के प्रति भी जागरूक किया जाता है |