औलिया मस्जिद का 28 साल से चला आ रहा विवाद निपटाने में गोहलपुर पुलिस का प्रशंसनीय प्रयास

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:
जबलपुर। चंडालभाटा स्थित औलिया मस्जिद का 28 साल से चला आ रहा विवाद को सुलझाने गोहलपुर टीआई रवीन्द्र कुमार गौतम के प्रयास की मुस्लिम बल्कि हिन्दु समाज पूरे मामले का से सराहना हो रही है। इस विवाद को सुलझाने में गोहलपुर टीआई रविंद्र कुमार गौतम का महत्वपूर्ण रोल रहा जिन्होंने हर पहलू से इस विवाद को सुलझाने में सौहार्दपूर्ण तरीके से इसका निराकरण करा लिया।

।970 मैं वक्फ बोर्ड ने एक दावा खारिज करते हुए ।977 में नूर अली शाह को मुतवल्ली नियुक्त कर दिया था। इसके बाद जनाव खा ने आसपास की भूमि को बेचना शुरू कर दिया। 7992 में इस के कई हकदार बन गए और मुस्लिम समाज मे आक्रोश व गया। हजारॉ लोगे ने थाने का का घेराव किया और फिर यहां पहले जिला पुलिस तथा वाद मे सशस्त्रबल की स्थाई सुरक्षा व्यवस्था की गई।994 से 2000 के बीच मस्जिद का पक्का निर्माण हुआ, इसी बीच संतोष यादव नामक व्गक्ति भी बाद में शामिल हो गया। बाद में जेडीए की भूमि पर एक हनुमान मंदिर वना लिया गया और फिर हर शुक्रवार तबा अन्य वड़े अवसर पर विवाद की स्थिति वनने लगी। मस्जिद से लगी भूमि पर रज्जद अली सुलेमान का पेट्रोल स्थापित हो गया और इस तरह से लगातार गोलमाल चलता रहा।

1964सेहुई थी शुरुआत
खसरा नं.155कै कुल रकवा 1.22 एकड़ की भूमिका यह मामला ।964 में प्रकाश में आया ।909 से ।967 तक भूमि मस्जिद परिसर के रूप में दर्ज रही ।5 दिसंबर  1964 को इसे वक्फ सम्पति के रुप में दर्ज कर लिया गया।इस के बाद जनाव खं तवा नारायणदास शर्म कि वीच विवाद शुरू हुआऔर दो साल तक चलता रहा। पहलेनारायण दास शर्म कि नाम और फिर ।968 में पुन: जनाब खं के नाम भूमि दर्ज हो गई | राजस्व विभाग की भूमि का इस पूरे घटनाक्रम में हमेशा मिली भगत ही सामने आती रही।

रवीन्द्र कुमार गौतम, थाना प्रभारी गोहलपुर

बनवादी गई बाउंड्रीवॉल –
२४ साल से सशस्त्रगार्ड की तैनाती और २८ साल के इस विवाद का गोहलपुर पुलिस द्वारा एसडीएम अघारताल ऋषभ जैन तथा तहसीलदार संदीप जायसवाल से राजस्व पत्रकों से छनबीन कराई गई। 70 वर्ष पुराने अभिलेखों को जांचा गया। हिंदु तथा मुस्लिम गणमान्य लोगों के बीच सीमांकन करवाया गया तथा २२ एकड़ भूमि को बाउंड्रीवॉल से घिरवाकर हमेशा-हमेशा के लिए विवादों का पटा क्षेप कर दिया गया।

तत्कालीन एसपी अमित सिंह, वर्तमान एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा तथा सीएसपी गोहलपुर अखिलेश गौर के द्वारा भी गौर के मार्गदर्शन में किया गया है। मामलै में राजस्व अधिकारियों ने भी अहम सहयोग किया है। साम्प्रदायिक एकता व सद्भावना के लिए यह कोशिश सार्थक साबित हुई है। –रवीन्द्र कुमार गौतम, थाना प्रभारी गोहलपुर