क्या उप्र में गुण्डाराज ही सर्वोपरि है अपराधियों में कानून का खौफ सिर्फ खोखले दावे

उत्तर प्रदेश में आये दिन इन हत्याकांड से ये पता चलता है कि यूपी सरकार द्वारा जो बात बात में गुण्डाराज खत्म करने दावे करते आई है ये घटनाये साफ बताती है कि वे दावे सिर्फ खोखले साबित हो रहे है उप्र में सिर्फ गुण्डाराज ही सर्वोपरि है जिनसे जनता को निजात मिलना संभव ही नहीं है।

कासगंज जनपद के थाना सोरों क्षेत्रान्तर्गत ग्राम होड़लपुर में हुए हत्याकांड में एक ही परिवार के तीन लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई, दो लोगों की स्थिति नाजुक बनी हुई है। बदमाशों ने ग्राम प्रधान के घर पर देर रात 40 से 50 राउंड फायरिंग की। पूर्व रंजिश को लेकर श्री राजपाल पक्ष एवं रुस्तम सिंह पक्ष के बीच झगड़ा हुआ था जिसमें रुस्तम पक्ष द्वारा अवैध तमंचों से फायरिंग की गई उक्त फायरिंग की घटना में श्री राजपाल पक्ष की 03 व्यक्तियों की मृत्यु हो गई है।

हत्याकांड में पूर्व प्रधान राजपाल उर्फ बाबा का पुत्र भूपेंद्र सिंह उर्फ रुद्र (25), भाई प्रेम सिंह (55) पुत्र जौहरी सिंह और भतीजा राधाचरन (26) पुत्र प्रेम सिंह की मृत्यु हो गई है। इन तीनों को कई गोलियां लगीं और मौके पर ही तीनों ने दम तोड़ दिया। जबकि पूर्व प्रधान का एक भाई प्रमोद व एक भतीजा गुड्डू गंभीर रूप से घायल है, उन्हे अलीगढ़ रेफर किया गया है।

पुलिस द्वारा तुरंत कार्यवाही कराते हुए अब तक07 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है जिनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त 03 तमंचे बरामद किए जा चुके हैं। मौके पर सभी वरिष्ठ उच्चाधिकारी मौजूद हैं। कानून व्यवस्था संबंधी स्थिति नियंत्रण में है।