निर्माणाधीन गोपालपुरा नहर परियोजना से 28 ग्रामों में 14400 हेक्टेयर क्षेत्र में होगी सिंचाई
मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार के आते ही प्रदेश में विकास और परिवर्तन का दौर शुरू हुआ, इसके पहले प्रदेश की सड़के, बिजली, शालाओं के भवनों की हालत सभी को मालूम है। भाजपा सरकार के सत्ता में आते ही विकास कार्य हर क्षेत्र में हुए हैं, चाहे सड़कों का निर्माण हो या बिजली की बात हो या स्कूल भवनों, अस्पतालों हर क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य किये जा रहे है। इस आशय के उद्गार प्रदेश के वित्त, जलसंसाधन, वाणिज्यिक कर, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री जयंत कुमार मलैया ने सागर जिले के बंडा विधानसभा क्षेत्र के पगरा जलाशय के समीप आयोजित एक गरिमामय समारोह को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा वर्ष 2009-10 में प्रदेश में 7 लाख हेक्टयर क्षेत्र में सिंचाई होती थी। जो 2015-16 में 25 लाख हेक्टयर हो गयी है। हमारा लक्ष्य वर्ष 2018-19 तक 40 लाख हेक्ट. में सिंचाई हेतु सुविधा मुहैया कराना हैं।
    वित्त और जलसंसाधन मंत्री जयंत कुमार मलैया ने कहा पंचमनगर, पगरा, गोपालपुरा, साजली और जूड़ी यह सभी परियोजनाएं अगले तीन सालों में पूरी हो जायेंगी। इनसे सागर और दमोह जिले के 1 लाख 10 हजार हेक्टयर क्षेत्र में सिंचाई होगी। उन्होंने कहा बंडा क्षेत्र के विधायक हरवंश सिंह ने क्षेत्र में नहर, स्टापडेम, तालाब की मांगे रखी हैं, सभी का परीक्षण कराकर पूरा किया जायेगा। वित्त मंत्री ने जलसंसाधन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर ही विधायक के साथ चर्चा कर कार्ययोजना के प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। वित्त मंत्री ने कहा बुन्देलखण्ड में सिंचाई के क्षेत्र में तेजी से काम किये जा रहे हैं।
    इस अवसर पर बंडा विधायक हरवंश सिंह ने कहा प्रदेश सरकार ने बंडा क्षेत्र में बड़ी सौगात दी है। अब इस क्षेत्र में पानी और सिंचाई की समस्या दूर हो जायेगी। उन्होंने वित्त और जलसंसाधन मंत्री से क्षेत्र में सिंचाई का रकबा का बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि गोपालपुरा नहर का विस्तार किया जायें। साथ ही उन्होंने ग्राम बमारा के ग्रामीणों को विस्थापित होने पर जमीन का मुआवजा तो मिल गया है किन्तु मकानों का मुआवजा नहीं मिला है दिलवाने का आग्रह किया। इस अवसर पर पथरिया विधायक लखन पटेल ने अपने विचार व्यक्त किये।
पगरा डेम का निरीक्षण
    प्रदेश के वित्त और जलसंसाधन मंत्री यहां पहुंच कर पगरा डेम का मौका मुआयना किया। जलसंसाधन विभाग अधिकारियों ने कराये जा रहे कामों से अवगत कराया। इस मौके पर क्षेत्र के किसानों ने मंत्री के पहुंचने पर उनसे बात की और अपने क्षेत्र की समस्याएं बताई और निराकरण का आग्रह किया।
मंत्री का भव्य स्वागत
    इस अवसर पर आयोजित समारोह में बंडा और आस-पास के क्षेत्रों से आये ग्रामीणजनों, जनप्रतिनिधियों ने वित्त और जलसंसाधन मंत्री का फूलमालाओं और शाल श्रीफल से स्वागत किया।  इस अवसर पर जलसंसाधन विभाग के अधीक्षण यंत्री ने कहा गोपाल पुरा नहर परियोजना पगरा पोशक बांध से नहर निकाल कर पूर्ण की जायेगी। गोपाल पुरा नहर परियोजना से 28 ग्रामों में 14400 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होगी। जिसमें 23 ग्राम तहसील बंडा जिला सागर एवं 4 ग्राम तहसील, पथरिया एवं 1 ग्राम तहसील बटियागढ़ जिला दमोह के लगभग 3 हजार कृषक सिंचाई से लाभान्वित होंगे। तहसील बंडा, पथरिया, बटियागढ़ के 28 ग्रामों गोपालपुरा, श्रीझिरी, नैनधरा, चौकी भ़ेडा, कंदवा, लरेटी, खिरियाजभान, बरखेडाभेडा, घोघरा, सिंगरावन, मोकलमऊ, प्रहलादपुरा, टेटवारा, चारोंधा, मडिया खुर्द, भेडाखास, केरबना, मडिया लखरैनी, जगथर, काकरदा, कोडरमणी में सिंचाई सुविधा का लाभ कृषकों को दिया जायेगा।