ग्राम गोठड़ा स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत खुले में शौच से मुक्त हुआ
आगर-मालवा | जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर स्थित ग्राम गोठड़ा में स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत खुले में शौच मुक्त, गौरव यात्रा तथा स्वच्छता उत्सव का आयोजन किया गया। जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलाबाई गुहाटिया, क्षेत्रीय विधायक श्री मुरलीधर पाटीदार, कलेक्टर श्री डी.व्ही. सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री राजेश शुक्ल ने इस समारोह का माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप  प्रज्जवलित कर विधिवत् शुभारम्भ किया। 
    इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गुहाटिया ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इस गांव के लोगों ने स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत खुले में शौच से मुक्त होने में जो भूमिका निभाई वह सराहनीय हैं। ग्रामीणों ने अपने घरों में शौचालय का निर्माण कर तथा उसका उपयोग कर माताओं, बहनों और बहु-बेटियों की लाज बचाई है, वे निश्चित रूप से धन्यवाद के पात्र  है। इस गांव को पुरस्कार दिलाने के लिये प्रयास किया जाएगा। 
    क्षेत्रीय विधायक श्री पाटीदार ने अपने उद्बोधन में कहा कि ग्राम गोठड़ा के ग्रामीणों, शासकीय अमला, जनप्रतिनिधियों और आम जनता ने स्वस्छ भारत मिशन के अन्तर्गत पूरे गांव को खुले में शौच से मुक्त करने का असम्भव कार्य को सम्भव करके दिखाया है। इसी तरह इस गांव से अन्य गांवों के लोगों को भी प्रेरणा लेना चाहिए। लोगों में धीरे-धीरे खुले में शौच न जाने की आदत बनेगी। बच्चों के संकल्प से ही यह सम्भव हो सका है। उन्होंनें ग्राम पंचायत को प्रतिवर्ष मिलने वाली राशि के संबंध में पंचायत से जानकारी ली और कहा कि हरवर्ष गांव के विकास के लिये बड़ी  राशि ग्राम पंचायत को प्राप्त होती है। शासन से प्राप्त होने वाली इस राशि का उपयोग गांव के विकास में लगाए। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वे अपने बच्चों को अनिवार्य रूप से स्कूल भेजे। बच्चे पढ़ेगें तो उनका भविष्य उज्जवल होगा। साथ ही ग्रामीणजन शराब का सेवन न करें। शराब का सेवन न करने से आर्थिक स्थिति और अधिक सुदृढ़ होगी। उन्होंने किसानों से कहा कि वे खेती में आधुनिक तकनीक अपनाकर अधिक उत्पादन हासिल करें। 
    कलेक्टर श्री सिंह ने इस समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि ग्रामीणजन स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत संकल्प के साथ गांव को खुले शौच जाने से मुक्त किया है, इसके लिये गांव के सभी लोग धन्यवाद के पात्र है। ग्रामीणजन इस व्यवस्था को आगे भी निरन्तर जारी रखे और सम्मानजनक ढंग से जीवन यापन करें। श्री सिंह ने ग्रामीणों से कहा कि अगर परिवार के सभी सदस्य साफ-सफाई पर ध्यान देंगे, तो 80 प्रतिशत बीमारियां अपने आप दूर हट जाएगी। उन्होंने समारोह में उपस्थित जनप्रतिनिधियों, आम जनता तथा शासकीय अमले से कहा कि इस गांव के आसपास के गांवों में जाकर वहां के लोगों को भी खुले में शौच न जाने के लिये प्रेरित करें। उन्होंने अपेक्षा करते हुए कहा कि इस गांव के आसपास के लोग इस गांव से निश्चित रूप से प्रेरित होकर खुले में शौच से मुक्त होंगे। उन्होंने व्यक्तिगत स्वच्छता पर भी विशेष जोर दिया। 
    मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री शुक्ल ने अपने उद्बोधन में कहा कि गांव के सभी लोगों के सहयोग से गांव को शौच मुक्त करने में सफलता मिली है। यह हमारे लिये गर्व की बात है। नलखेड़ा जनपद पंचायत क्षैत्र में यह पहला गांव जो खुले में शौच से मुक्त हुआ हैं। आप लोगों ने लक्ष्य के अनुरूप गांव को खुले में शौच से मुक्त किया है। यह हम सब की लाज बचा ली है। इसे आगे भी जारी रखे। ग्रामीण बच्चों तथा अन्य ग्रामीणों ने भी उत्साह पूर्वक भरोसा दिलाया कि गांव में किसी को भी खुले में शौच नहीं जाने देंगे। उन्होंने ने बताया कि जिले में यह चौथा गांव खुले में शौच से मुक्त हुआ है। यह हमारे लिये खुशी की बात है। अतिथियों ग्राम मोल्याखेड़ी, लसुल्डिया केलवा, कोहडिया, रिछी, सेमलखेड़ी, पचलाना, झोंटा, अम्बाबड़ौद, खेरवासोयत, आमला, पांचारूण्डी तथा ताखला के ग्राम पंचायत के सरपंच-सचिवों को गांव को खुले में शौच से मुक्त करने के लिये मसाल सौंपी। इस अवसर पर अतिथियों ने स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत गांव को खुले में शौच  से मुक्त करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने पर ग्रामीणों को पुष्प मालाओं से सम्मानित किया। इस अवसर पर गांव की बालिकाओं द्वारा गर्व यात्रा भी निकाली। यह गर्व यात्रा गांव के मुख्य मार्गों से गुजरी। 
    इस अवसर पर जनपद अध्यक्ष श्री ईश्वरसिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि श्री पर्वतलाल गुहाटिया, अनुविभागीय अधिकारी  राजस्व श्री जी.एस.डावर,  तहसीलदार श्री मुकेश सोनी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत श्री मेहरबानसिंह ठाकूर, सहायक यंत्री जिला पंचायत श्री अतुल कानूनगो, सरपंच मोतीलाल मडोलिया अन्य जनप्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।