गुजरात का सियासी घमासान

इस ख़बर को शेयर करें:

भाजपा और कांग्रेस गुजरात विधानसभा चुनाव में अपने प्रत्यासियों के नामों को अंतिम रूप देने में लगी है… जहां दिल्ली में पीएम मोदी और अमिश शाह ने भाजपा नेताओं के साथ चुनावी रणनीती तैयार की तो कांग्रेस नेताओं ने भी अपने प्रचार को घार देने की रणनीति बनाई।

गुजरात विधानसभा चुनावों के पहले चरण के लिए अधिसूचना जारी होने के साथ ही सियासी घमासान तेज हो चुका है। गुजरात में दोनों ही राजनीतिक पार्टियों की रणनीति अब अंतिम चरण में पहुंचने को है। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने अपनी चुनावी रणनीति बनाने के लिए बुधवार को दिल्ली में बैठक बुलायी। बीजेपी में जहां पीएम मोदी और अमित शाह ने गुजरात के नेताओं के साथ मंथन किया तो वहीं जबकि कांग्रेस ने अपनी मीटिंग टाल दी है.।

बीजेपी ने गुजरात के लिए अपने उम्मीदवरों के नाम को अंतिम रूप देने के लिए पार्टी के केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक की । दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक में पीएम मोदी और भाजपाध्यक्ष अमित शाह ने गुजरात के सीएम विजय रुपानी , उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष जीतू वघानी समेत तमाम नेताओं के साथ पार्टी उम्मीदवारों के नाम पर माथापच्ची की । पार्टी एक ओर जहां सत्ता बरकरार रखने को लेकर आश्वास्त है वहीं कांग्रेस पर भी जोरदार हमला बोल रही है ।

वहीं कांग्रेस इस मामले में पिछड़ती दिख रही है । आज ही कांग्रेस की बैठक होनी थी लेकिन कुछ कारणों से ये टल गयी है । माना जा रहा है कि एक दो दिन में फिर य़े बैठक होगी और कांग्रेस अपने उम्मीदवारों के नामों का एलान करेगी । वहीं गुजरात में पार्टी के नेता प्रचार अभियान में जुटे हैं । पार्टी के नेता गुजरात सरकार के कामकाज पर सवाल खडे कर रहे हैं ।

गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए 9 और 14 दिसंबर को दो चरणों में मतदान होने हैं. पहले चरण में राज्य की 89 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव होना है । वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी । बीजेपी गुजरात की सत्ता पर छठी बार विराजमान होने के लिए पूरी ताकत झोंक रही है, तो वहीं कांग्रेस 22 साल बाद सत्ता में वापसी के लिए जद्दोजहद कर रही है ।