दिल्ली की एक कंपनी ने करोड़ो रुपए हड़पे

जबलपुर@ निवेश करने पर दोगुने फायदे का लालच देकर लोगों से पैसा जुटाने के बाद फरार हुई दिल्ली की एक कंपनी के खिलाफ रांझी पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। रांझी निवासी एक महिला की शिकायत पर हुई इस कार्रवाई में फिलहाल 3 करोड़ का घोटाला सामने आया है। पुलिस का अनुमान है कि जांच के बाद घोटाले का आंकड़ा 5 करोड़ तक पहुंच सकता है। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है। जल्द ही इस मामले में एक टीम दिल्ली जाएगी।

थाना प्रभारी संजय शुक्ला ने बताया कि रांझी निवासी मन कुमारी थापा ने पिछले दिनों एसपी महेन्द्र सिंह सिकरवार से शिकायत की थी कि जीएन गोल्ड और जीएन डेरी कंपनी के डायरेक्टर दिल्ली निवासी सतनाम मंगसिंह रंधावा, प्रबंधक डीके बजाज, पदाधिकारी इंदौर सन सिटी निवासी सुरेश चौधरी, देवास निवासी ब्रम्हानंद पटेल, राउ इंदौर निवासी पंकज चौधरी और रांझी निवासी पदमानंद ने जीवनलाल मार्केट रांझी की दुकान नंबर 9 में ब्रांच ऑफिस खोला था। कंपनी के स्टाफ द्वारा लोगों से पैसों का लेनदेन किया जाता था, जिसके बदले प्रिंटेड रसीद दी जाती थी।

कंपनी ने जबलपुर के अलावा भोपाल, इंदौर, उज्जैन, आष्टा, शाजापुर, सिहोर, देवास में भी कंपनी की शाखाएं खोली थीं। कंपनी लोगों को लुभावनी शर्तें व स्कीम बताई जाती थीं। कंपनी विश्वास दिलाती थी कि लोग जितना निवेश करेंगे उन्हें दोगुना फायदा मिलेगा। कंपनी के झांसे में आकर उसके अलावा लगभग 600 निवेशकों ने 3 करोड़ की राशि का निवेश किया था। लेकिन समय सीमा पूरी होने के बाद न तो किसी को अपना मूलधन मिला न ही फायदे की रकम। इतना ही नहीं कंपनी ने रातों-रात अपना दफ्तर बंद कर दिया। इसके बाद से कंपनी के डायरेक्टर समेत सभी जबावदार लोगों के मोबाइल भी बंद हो गए। दिल्ली स्थित कार्यालय में संपर्क करने पर भी कोई जबाव नहीं मिला।