अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने पकड़ा दो आरोपियो को

इस ख़बर को शेयर करें:

बड़वानी @ पुलिस ने पलसूद थाना क्षेत्र में हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए दो आरोपियो को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।पुलिस अधीक्षक विजय खत्री ने मंगलवार को कण्ट्रोल रूम बड़वानी में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि 24 फरवरी को थाना पलसूद क्षेत्र के भीमा चारण के खेत के पास एक व्यक्ति कि पत्थरो से कुचली हुई लाश पाई गई थी। इस पर से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। मृतक की पहचान करणसिंह पिता गणपत निवासी कुजरी के रूप में हुई थी।

इस पर से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक टीएस बघेल के मार्गदर्शन एवं एसडीओपी राजपुर पदमसिंह बघेल के निर्देशन में थाना प्रभारी पलसूद बीआर वर्मा के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया था। इस टीम ने अनुसंधान के दौरान प्राप्त तथ्यों एवं जानकारियों के आधार पर ग्राम मदिल के डेबरा पिता मांगीलाल बारेला 50 वर्ष एवं रावजी पिता ज्ञानसिंह भीलाला 45 वर्ष को पकड़कर पूछताछ की, जिस पर से गिरफ्तार दोनो व्यक्तियो द्वारा उक्त अपराध करना स्वीकार किया गया है।

पूछताछ के दौरान दोनो आरोपियो ने बताया कि वे 22 फरवरी को मृतक करणसिंह के साथ राजपुर से बैल लेकर महाराष्ट्र जाने के लिये पैदल रवाना हुये थे। रास्ते में शराब पीने के पश्चात् करणसिंह से विवाद होने के पश्चात् उसकी हत्या पत्थर से कुचलकर कर दी थी। इस अन्धे कत्ल का पर्दाफाश करने में निरीक्षक बीआर वर्मा, सहायक उपनिरीक्षक अय्यूब शेख, प्रधान आरक्षक रमेश यादव, आरक्षक देवराम मौरे, अरूण मुजाल्दे का विशेष योगदान रहा।