घाटी में भारी बर्फबारी व हिमस्खलन की चेतावनी

जम्मू: 25 जनवरी को राज्य में आए बर्फीले तूफान में एक मेजर सहित 15 जवानों के शहीद होने व चार नागरिकों के मारे जाने के बाद एक बार फिर राज्य में हिमस्खलन का खतरा बढ़ गया है। मौसम विभाग व राज्य प्रशासन ने अगले 24 घण्टों के दौरान भारी बपर्फबारी व हिमस्खलन होने की चेतावनी जारी कर दी है। ऐसे में लोगों को अपने घरों में ही रहने के लिए कहा गया है।

पिछले कुछ दिनों से भारी बर्फबारी से परेशान जम्मू-कश्मीर के तमाम पहाड़ी इलाकों में बारिश और बर्फबारी का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। मौसम विभाग के मुताबिक, कश्मीर में फिर एक पश्चमी विभोक्ष सक्रिय हो गया है और ऐसा अनुमान है कि ये धीरे-धीरे आगे बढ़ेगा और इसका असर 31 जनवरी तक बना रहेगा। जिसकी वजह से कश्मीर घाटी, कारगिल, लेह, लद्दाख के ऊपरी इलाकों में बारिश और बर्फबारी का सिलसिला जारी रहेगा।

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में 24 जनवरी की रात से बारिश और बर्फबारी का सिलसिला शुरू हुआ था तथा 25-26 जनवरी को जम्मू और कश्मीर के ज्यादातर इलाकों में भारी बर्फबारी हो चुकी थी। 25 को हुए हिमस्खलन में 15 जवान शहीद हुए जबकि इस दौरान बर्फबारी में दबने से चार नागरिकों की भी मौत हुई।

एक बार फिर बर्फबारी व हिमस्खलन का खतरा बढ़ गया है जिसके चलते मौसम विभाग व राज्य प्रशासन ने चेतावनी जारी कर दी है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि 30 जनवरी को कश्मीर के गांदरबल, बांदीपुरा, कुपवाड़ा, बारामुला, श्रीनगर, बडगाम, पुलवामा, कारगिल और पुंछ में बारिश और बर्फबारी का सिलसिला शुरू होगा। यहीं नहीं 31 जनवरी आते-आते कश्मीर के तमाम इलाकों में बर्फबारी और ज्यादा तेज हो जाएगी।