तिर्यक ताड़ासन कैसे करें एवं लाभ जाने योग गुरु महेश अग्रवाल से

इस ख़बर को शेयर करें:

तिर्यक ताड़ासन – कमर, नितम्ब तथा बगल की मांशपेशियों को तानता है, जो अन्य अभ्यासों मे शायद ही होता है | आज की लाइफस्टाइल ऐसी हो गई है, जिसके कारण अधिकतर लोग मोटापा, कब्ज, कमर व पेट के आसपास चर्बी जमा होने, कंधों में दर्द, मेरुदंड आदि से संबंधित समस्याओं का सामना करते हैं।

इन सभी समस्याओं से बचने का बेहतर उपाय है बेहतर खानपान, एक्सरसाइज और योग का अभ्यास। कब्ज, कमर के पास जमी चर्बी और शरीर को लचीला बनाने के लिए आप तिर्यक ताड़ासन (tiryaka tadasana) का भी अभ्यास कर सकते हैं। कब्ज से अधिकतर लोग परेशान रहते हैं। कई बार आंतों के कमजोर होने से भी शरीर से ठोस मल त्याग करना मुश्किल हो जाता है। इससे शरीर में विषैले पदार्थ जमा होने लगते हैं। पाचन प्रणाली खराब हो जाती है। इसी कारण कब्ज हो जाता है। योग में तिर्यक ताड़ासन (tiryaka tadasana) करके आप इन सभी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

तिर्यक ताड़ासन कैसे करें

खुली और हवादार जगह पर ताड़ासन की अवस्था में खड़े हो जाएं। दोनों पैरों के बीच थोड़ा गैप हो और पैर बिल्कुल सीधे हों। दोनों हाथों की उंगुलियों को आपस में मिला लें। इन्हें सिर के ऊपर उठाएं और हाथों को ऊपर की ओर खींचें। पैरों की उंगलियों पर खड़े होने की कोशिश करें। शरीर को ऊपर की तरफ तानें। अब शरीर को कमर से दाईं और फिर बाईं तरफ झुकाएं। इस स्थिति में थोड़ी देर रुकने की कोशिश करें। फिर वापस पहले की स्थिति में आ जाएं। ऐसा दोनों तरफ लगभग 10-10 बार करें।

विशेष – श्वास दाएं एवं बाएं झुकते समय खाली करें एवं उठते समय ले

तिर्यक ताड़ासन के लाभ क्या है

इसके नियमित अभ्यास से शरीर लचीला बनता है। मेरुदंड की अच्छी मालिश होती है। कंधों को मजबूती मिलती है। कमर पतली होती है। साइड से चर्बी कम होती है। जो लोग वजन घटाने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें तिर्यक ताड़ासन का अभ्यास भी करना चाहिए। जो लोग लंबाई में छोटे हैं, उनके लिए भी तिर्यक ताड़ासन करना लाभदायक साबित हो सकता है। इसके नियमित अभ्यास से आप अपना कद थोड़ा बहुत बढ़ा सकते हैं।

हालांकि, इसका अभ्यास उन लोगों को करना चाहिए, जिनकी उम्र अभी कम है और लंबाई बढ़ने की संभावना है। शुभ चिंतन, उपवास, गाढ़ी नींद, अपक्व आहार, घी तेल आइसक्रीम मिठाई का त्याग , योग अभ्यास एवं एनिमा सभी रोगों के निवारण का अचूक उपाय है |

अच्छे अंत से कहीं ज्यादा आसान है एक अच्छी शुरुआत….मास्क का उपयोग जरूर करें, कोशिश करें घर पर रहकर ही योग करने की आदत डालें फेसबुक के माध्यम से प्रातः 5 बजे से 7 बजे तक निरंतर निःशुल्क योग प्रशिक्षण। आदर्श योग आध्यात्मिक केन्द्र लगातार कई वर्षो से स्वर्ण जयंती पार्क में एवं वर्तमान में 9 महीनों से ऑनलाइन फेसबुक के माध्यम से निशुल्क सुबह एवं शाम को योग के द्वारा लोगों को स्वस्थ जीवन जीने की कला सीखा रहा है कोई अवकाश नहीं रखते हुए सभी धार्मिक सामाजिक राष्ट्रीय त्यौहार उत्साह पूर्वक मनाते है साधकों के जन्मदिन पर वृक्षारोपण के साथ लोगों को स्वच्छता सुरक्षा के प्रति भी जागरूक किया जाता है।