Skip to content

अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से कैसे रिस्टोर कर सकते है Deleted फोटोज, पोस्ट और स्टोरीज

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:


आज के समय में इंस्टाग्राम लोगों के बीच काफी मशहूर है। खासकर युवाओं में यह ऐप काफी लोकप्रिय है। इंस्टाग्राम का इस्तेमाल लोग फोटो, विडियो आदि शेयर करने के लिए करते हैं। यह प्लेटफॉर्म यूजर्स के लिए बिल्कुल फ्री है। इसमें शॉर्ट विडियो से लेकर लाइव स्ट्रीमिंग, रील्स जैसी कई सुविधाएं मिलती हैं। इंस्टाग्राम की मदद से आप अपने पसंदीदा कलाकारों, अपने दोस्तों से जुड़े रहते हैं। समय-समय पर यह ऐप अपने यूजर्स के लिए नए फीचर्स लाती रहती है।


कैसा है इंस्टाग्राम का यह फीचर?
इंस्टाग्राम पर शेयर की गई फोटोज और विडियोज हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण होती हैं। अगर कभी गलती से यह फोटोज हमसे डिलीट हो जाए, तो आप क्या करेंगे? अब यूजर्स अपने डिलीट किए गए पोस्ट, स्टोरीज, फोटोज को रिस्टोर भी कर सकते हैं। इंस्टाग्राम का रिसेंटली डिलीट फीचर, मिटाए गए पोस्ट, स्टोरीज, आदि को रिस्टोर करने में मदद करता है। इस फीचर को फरवरी 2021 में शुरू किया गया था।

कैसे काम करता है रिसेंटली डिलीट फीचर?

  • इंस्टाग्राम से मिटाई गई फोटो, वीडियो, रील्स जैसे कॉन्टेंट, तुरंत यूजर्स के अकाउंट से मिट जाते हैं और रिसेंटली डिलीट फोल्डर में चले जाते हैं।
  • यूजर्स के द्वारा मिटाई गई स्टोरीज 24 घंटे रिसेंटली डिलीट फोल्डर में रहती है, जबकि दूसरे कॉन्टेंट जैसे, फोटोज विडियो, रील्स, आदि 30 दिनों तक इसी में रहते हैं।
  • यूजर्स इन 30 दिनों में इंस्टाग्राम के सैटिंग से अकाउंट और फिर रिसेंटली डिलीट फोल्डर में जाकर इसे रिस्टोर या पूरी तरह डिलीट कर सकते हैं।

क्या है फोटोज, पोस्ट, आदि को रिस्टोर करने का तरीका?

  • यूजर्स, पहले अपना इंस्टाग्राम अकाउंट खोलें, प्रोफाइल में जाने के लिए प्रोफाइल फोटो पर क्लिक करें।
  • डिवाइस में सबसे ऊपर दाहिनी तरफ मोर ऑप्शंस पर क्लिक करें। इसके बाद, सेटिंग ऑप्शन में जाकर अकाउंट ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • रिसेंटली डिलीट फोल्डर में जाकर जिस भी कॉन्टेंट को यूजर्स मिटाना या रिस्टोर करना चाहते हैं, उसपर क्लिक करें ।
  • इसके बाद, ऊपर दाहिनी तरफ मोर ऑप्शंस पर क्लिक करें। ‘रिस्टोर टू प्रोफाइल’ या ‘डिलीट इट’ पर क्लिक करें।

इंस्टाग्राम की शुरूआत 6 अक्टूबर 2010 को केविन सिस्ट्रॉम और माइक क्रेगर द्वारा की गई थी। इसको सबसे पहले iOS ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए मोबाइल ऐप की तरह लॉन्च किया गया था। अप्रैल 2012 में इसे एंड्राएड के लिए भी शुरू कर दिया गया।