न में मामा हूं न चाय बेचने वाला हूं, में हूं कमलनाथ
इस ख़बर को शेयर करें

अशोकनगर। ये उपचुनाव कोई साधारण चुनाव नहीं हैं बल्कि प्रजातंत्र और संविधान के साथ किए गए खिलवाड़ करने वालों को सबक सिखाने का चुनाव है। में यहां जनता से वोट मांगने नहीं बल्कि इस क्षेत्र के नौजवानों के भविष्य के लिए एक रिश्ता बनाने के लिए आया हूं, में अपनी जेब में नारियल रखकर चलने वाला नहीं हूं, कोई झूठी घोषणा करने वाला नहीं हूं, न मामा हूं न चाय बेचने वाला हूं, में कमलनाथ हूं।

यह बात पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रविवार को अशोकनगर विधानसभा क्षेत्र के राजपुर में कांग्रेस प्रत्याशी आशा दोहरे के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर पूर्व प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष अरुण यादव, पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने भी सभा को संबोधित किया।

इस अवसर पर कमलनाथ ने कहा कि में बधाई देता हूं अशोकनगर, गुना संसदीय क्षेत्र की जनता को कि ड़ेढ वर्ष पहले जो संदेश दिया था, मध्यप्रदेश का यह क्षेत्र गुलामी से आजाद हुआ था, बधाई की पात्र है यहां कि जनता। उन्होंने कहा कि में कोई महाराजा नहीं हूं, न मामा हूं, न चाय बेचने वाला हूं, में कमलनाथ हूं जो जेब में नारियल रखकर नहीं चलता और कोई झूठी घोषणा नहीं करता।

कमलनाथ ने कहा कि मैने कभी कुत्ते की समाधी नहीं बनवाई बल्कि छिंदबाड़ा में हनूमान जी का मंदिर बनवाया है। उन्होंने कहा कि में कहना चाहता हूं कि ये कोई साधारण उपचुनाव नहीं है प्रजातंत्र और संविधान से खिलबाड़ करने वालों को सबक सिखाने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि देश में संविधान देश के नौजवानों के भविष्य के लिए बना है, पर प्रदेश में सौदा करलो, बोली लगा लो, सरकार बना लो, धनतंत्र से सरकार बनाई जाने लगीं हैं। हमने वोट से सरकार बनाई तो उन्होंने नोटों से सरकार बनाई।

कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सरकार में 15 सालों में किसानों पर अत्याचार होता रहा और शिवराज सिंह अपने को किसान का बेटा कहते रहे, ये कैसे किसान के बेटे हैं? उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में किसानों के साथ नौजवानों का भविष्य सबसे बड़ी चुनौती है। प्रदेश में उद्योग लगने की जगह बंद होते गए। उन्होंने कहा कि मैने माफियाओं और मिलावटियों के विरुद्ध अभियान चलाया। पर वहीं शिवराज सरकार में स्कूलों में शिक्षक नहीं, अस्पतालों में डॉक्टर नहीं, बिजली के खंम्भों में तार नहीं मिले। किसान बिना दाम के नौजवान बिना काम के।

उन्होंने कहा कि में शिवराज सिंह मुझ से हिसाब मांगते हैं, में 15 माह का हिसाब देना चाहता हूं पहले वे 15 साल का हिसाब दें। उन्होंने कहा कि मैने कौन सा पाप किया था, जो मेरी सरकार गिराइ गई, मैने तो 15 साल की लूट की व्यवस्था को समाप्त करने का काम किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के भविष्य को देखते हुए उनका समर्थन करें।

सिंधिया प्रदेश के सबसे बड़े भू-माफिया:
कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्यप्रदेश से सबसे बड़े भू माफिया हैं, एवं अशोकनगर के पूर्व विधायक व भाजपा प्रत्याशी उनके पद चिन्हों पर चलने वाला अशोकनगर का बड़ा भू माफिया है।
उन्होंने कहा कि सिंधिया और बिकने वाले गद्दार पूर्व विधायकों का पूरा काला चि_ा कांग्रेस के पास है।

अशोकनगर को मिलेंगे दो विधायक:
पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि मेरा विधानसभा क्षेत्र अशोकनगर से लगा हुआ है, कांग्रेस प्रत्याशी के यहां से विजय होने पर इस क्षेत्र के लोगों को दो विधायक मिलेंगे और इस क्षेत्र को विकास के नए आयाम देंगे। उन्होंने कहा कि इस उपचुनाव में बिकाऊ विधायकों को हराकर सबक सिखाना है।