अपने संकल्प को साकार होते देख रहा हूँ-मुख्यमंत्री
जबलपुर | मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर जिले में मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के बेहतर क्रियान्वयन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा है कि यह उनके उस संकल्प का पूरा होने जैसा है जिसमें उन्हें कल्पना की थी कि प्रदेश के युवा भी टाटा बिडला, अंबानी बने और ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार दें। 
   श्री चौहान आज यहां मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत लाभांवित जिले के सभी 72 युवाओं से चर्चा कर रहे थे, जिन्होंने योजना के तहत ऋण प्राप्त कर अपनी स्वयं की औद्योगिक इकाईयां प्रारंभ की हैं। इस मौके पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष श्री नंद कुमार चौहान, स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री शरद जैन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मनोरमा पटैल, विधायक अशोक रोहाणी, नगर अध्यक्ष श्री जी.एस.ठाकुर एवं श्री शिव कुमार पटैल भी मौजूद थे। 
   मुख्यमंत्री ने सभी युवा उद्यमी को शुभकामना देते हुए कहा कि जब मैंने युवाओं का आवहान किया था कि वे रोजगार मांगने वाले नहीं रोजगार देने वाले बने तब किसी को उनकी इस बात पर विश्वास नहीं होता था। लेकिन सरकार ने इसे हकीकत में बदलने के लिए टेक्नालॉजी, ऋण और मार्केटिंग जैसे सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री युवा उद्यमी नाम से सुविचारित योजना बनाई और आज इसके अच्छे परिणाम दिखाई दे रहे हैं। श्री चौहान ने कहा कि मध्यम आय और निम्न मध्यम आय वर्ग के कई युवा स्वरोजगार शुरू करना चाहते हैं। उनमें प्रतिभा भी है लेकिन धन की कमी बाधा बन रही थी। बैंक उन्हें गारंटी के अभाव में ऋण देने में आनाकानी करते थे। लेकिन सरकार की इस योजना ने युवाओं के सपने को पूरा करने की दिशा में आ रही इन सभी बाधाओं को दूर कर दिया है। सरकार खुद इस योजना के तहत बैंकों को ऋण वापसी की गारंटी दे रही है और युवा उद्यमियों को ब्याज पर अनुदान भी दे रही है। 
   श्री चौहान ने मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना से लाभांवित सभी उद्यमियों से आग्रह किया कि वे उन्हें अपने अनुभव उन्हें लिखकर भेजे। इससे इसका उल्लेख भी करें कि इस योजना का लाभ लेने में कहा दिक्कतें आई और इसमें क्या-क्या सुधार किये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम इस योजना को और बेहतर स्वरूप देना चाहते हैं जिससे प्रदेश के ज्यादा से ज्यादा युवा इसका लाभ उठाकर उद्यमी बन सकें और दूसरों को भी रोजगार दें सकें। उन्होंने इस मौके पर जबलपुर में फूड प्रोसेसिंग यूनिट विशेषकर मटर पर आधारित प्रोसेसिंग यूनिट की अच्छी संभावनायें बताई। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे खुद भी एक किसान हैं और चाहते हैं कि एक फूड प्रोसेसिंग यूनिट खोलें। 
   श्री चौहान ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए जिला प्रशासन, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र तथा बैंक अधिकारियों को भी साधुवाद दिया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे योजना के तहत लाभांवित उद्यमियों की सफलता की कहानी सीडी में भोपाल भेजें ताकि इससे दूसरे जिलों को भी अवगत कराया जा सके और वहां पर भी ज्यादा से ज्यादा युवाओं को इस योजना का लाभ दिलाया जा सके। 
   कार्यक्रम में मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के लाभांवित हितग्राहियों ने अपने अनुभव भी सुनाये। इन उद्यमियों में अगरबत्ती निर्माण की यूनिट स्थापित करने वाले आदित्य पटैल, 17 बिस्तर का अस्पताल प्रारंभ करने वाली श्रीमती अन्नपूर्णा बुधौलिया, टायर रिमोÏल्डग की यूनिट स्थापित करने वाले हमजोत सिंह पाल, गुड़ निर्माण की इकाई स्थापित करने वाले विवेक सोनी शामिल थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत ऋण प्राप्त कर “पाली कूल” ब्राण्ड की प्लास्टिक की पानी टंकियां बनाने की प्रीतेश दबे द्वारा स्थापित इकाई “पाली टेंक्स इण्डस्ट्रीज” का अवलोकन भी किया। 
   कार्यक्रम में बताया गया कि जबलपुर जिले में मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के तहत 72 युवाओं को स्वरोजगार के लिए लगभग 38 करोड़ रूपये का ऋण और करीब 5 करोड़ रूपये का अनुदान उपलब्ध कराया गया है। सभी बहत्तर युवा उद्यमियों द्वारा योजना का लाभ लेकर स्थापित की गई इकाईयों में 432 लोगों को रोजगार मुहैया कराया जा रहा है। इसी तरह मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में भी विभिन्न गतिविधियों के लिए 1130 युवाओं को करीब 39 करोड़ रूपये का ऋण उपलब्ध कराया गया है।