कोलकाता, पश्चिम बंगाल में आयोजित होने वाले 36 घंटे के स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 ग्रैंड फ़िनाले के लिए आईसीएमआर पूरी तरह तैयार

इस ख़बर को शेयर करें:

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) ने घोषणा की है कि बहुप्रतीक्षित स्‍मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 का ग्रांड फिनाले देश के 26 अलग-अलग नोडल केंद्रों पर एक साथ 1 और 2 अप्रैल, 2017 को आयोजित किया जाएगा। इस पहल में आईसीएमआर एक प्रमुख भागीदार है। नई दिल्‍ली में 9 नवंबर, 2016 को शुरू किया गया स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 छात्रों की रचनात्मकता और विशेषज्ञता को बढ़ावा देता है और उन्‍हें ‘स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया’ अभियान के लिए तैयार करता है। इसके अलावा भारत की चुनौतीपूर्ण समस्‍याओं के नवाचारी समाधान के लिए नागरिकों को शासन, जीवन की गुणवत्‍ता में सुधार लाने के अवसर प्रदान करने के अलावा प्रशासन और जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए भीड़ स्रोतों के समाधान के मौके भी उपलब्‍ध कराता है।

आईसीएमआर विभाग से संबंधित त्‍वरित विवरण इस प्रकार हैं:

  प्रस्‍तावित समस्‍या विवरण प्राप्‍त विचार ग्रांड फिनाले के लिए चुनी गई टीमें ग्रांड फिनाले में भाग ले रहे युवाओं की संख्‍या   ग्रांड फिनाले के लिए नोडल केंद्र 
आईसीएमआर,स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय 28 238 37 296 कोलकाता,पश्‍चिम बंगाल
कुल आयोजन 598 7531 1266 10000+  

डॉ सौम्या स्‍वामीनाथन सचिव, डीएचआर और महानिदेशक आईसीएमआर ने कहा कि देश की समस्या को सुलझाने के लिए युवा दिमाग का उपयोग करना एक अनूठा अनुभव था।

स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 के ‘दुनिया का सबसे बड़ा खुला नवाचार मॉडल’ बनने की उम्मीद है और दूसरे देश भी इसे अपना सकते हैं, क्‍योंकि एक अवधारणा के रूप में हैकथॉन भारत के लिए नया है, इसलिए एआईसीटीई ने पूरे भारत में स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 के बारे में छात्रों को संवेदनशील बनाने के लिए देश में 26 कार्यशालाओं का आयोजन किया। इन कार्यशालाओं ने हमारे देश की समस्‍याओं से छात्रों को जोड़ने में मदद की। 29 सरकारी विभागों द्वारा प्रस्‍तुत की गई 598 समस्याओं के लिए 7531 विचार प्राप्‍त हुए। उनमें से 1266 विचारों को 1 और 2 अप्रैल, 2017 को आयोजित होने वाले ग्रांड फिनाले के लिए चुना गया है। फिनाले के दौरान देश के 26 स्‍थानों पर अपने विचारों पर आधारित उत्‍पाद बनाने के लिए ये टीमें 36 घंटे तक बिना रूके काम करेंगी। पहली बार 10,000 से अधिक युवा (प्रति टीम 6 छात्र और 2 सलाहकार) हमारे देश के लिए उत्पादों के विकास के लिए 36 घंटे तक बिना रूके काम करेंगे। स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 की सफलता सुनिश्चित करने के लिए, 30,000 से अधिक छात्रों के प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण सत्र आयोजित किए गए हैं।

स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 के बारे में कुछ जानकारी:

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) के तत्वावधान में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने आई 4 सी, माई गोव, पर्सिस्टेंट सिस्टम, नास्कॉम और रामभाउ माहालगी पाबोडिनी के सहयोग से एक विशिष्‍ट पहल ‘स्मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017’ एक अनूठी पहल का आयोजन कर रही है। पहली बार, 29 विभिन्न सरकारी मंत्रालयों और विभागों ने एक साथ मिलकर भारत के 30 लाख तकनीकी छात्रों के समक्ष 598 समस्या विवरण प्रस्‍तुत किए हैं। 1 और 2 अप्रैल, 2017 को आयोजित होने वाले 36-घंटे के ग्रैंड फिनाले के दौरान हजारों तकनीकी छात्र केंद्र सरकार के मंत्रालयों और विभागों द्वारा प्रस्‍तुत की समस्‍याओं के लिए नवाचारी डिजिटल समाधान का निर्माण करेंगे। स्‍मार्ट इंडिया हैकथॉन 2017 देश में पहली विशाल पहल होगी। जो देश के इतिहास में अप्रत्‍याशित है। विजेताओं को नकद पुरस्कार देने के अलावा नैस्‍कॉम के 10,000 स्टार्टअप कार्यक्रम का हिस्सा बनने का भी अवसर मिलेगा।