भोले की भक्ति में डूबा शहर, शिवालयों में हुए अनुष्ठान

इंदौर। महाशिवरात्रि पर शुक्रवार को सुबह से ही शिव मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। त्रिवेणी संयोग में इस बार यह पर्व मन रहा है। ब्रह्म मुहूर्त से ही घंडे घडिय़ाल यहां बजने लगे। वहीं जलाभिषेक, दुग्धाभिषेक कर भक्त भगवान भोले के दर्शन कर रहे है। पूरे शहर के मंदिरों में सुबह से ही भक्तों का तांता लगा है। कई बड़े मंदिरों को आकर्षक रूप से सजाया भी गया है। इसके अलावा शिव बरात, शोभायात्रा आदि भी शहर में आयोजित किए गए है। भगवान भोले और माता पार्वती के विवाह का पर्व महाशिवरात्रि आज धूमधाम और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है।

शहरभर के शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। परदेशीपुरा स्थित श्री गेंदेश्वर महादेव मंदिर में कल शाम शिव-पार्वती को हल्दी लगी और तेल, चंदन का लेप भी लगाया गया। आज विवाह होगा। बाणेश्वर मंदिर, भूतेश्वर मंदिर, गुटकेश्वर मंदिर, गोपेश्वर मंदिर, जबरेश्वर मंदिर सहित शहर के सभी छोटे-बड़े शिव मंदिरों में शिवरात्रि का पर्व मन रहा है। देव गुराडिय़ा में आज से महाशिवरात्रि मेला देव गुराडिय़ा स्थित प्राचीन शिव मंदिर में भी भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। यहां इंदौर के अलावा आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से भी हजारों की संख्या में भक्त पहुंचे। तीन दिनी शिवरात्री मेला भी यहां आज से शुरू हो गया। इसी प्रकार शहर में भी कई स्थानों पर मेले जैसी स्थिति है। पुलिस और प्रशासन ने महाशिवरात्रि पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए है।

बाणगंगा क्षेत्र में भगवान शिव की भव्य शोभायात्रा निकाली गई। बाणेश्वर महादेव की इस शोभायात्रा में हजारों की संख्या में महिलाएं कलश लेकर चल रही थी। संस्था नमो नवग्रह शनि और सत्यमेव जयते के संरक्षक के.के. यादव ने बताया कि शोभायात्रा 12 वर्षों से निकाली जा रही है। सुबह पहले भगवान शिव का जलाभिषेक किया गया। इसके बाद शोभायात्रा शुरू हुई। बाणगंगा, कुम्हारखाड़ी होते हुए मरीमाता चौराहा पर शोभायात्रा का समापन होगा। शिव-पार्वती की झांकी, भजन मंडली, घोड़े, बग्घी, हाथी सहित बड़ी संख्या में भक्तगण भगवान शिव की यात्रा में शामिल हुए। कई मंचों से शोभायात्रा का भव्य स्वागत किया गया। शोभायात्रा में साधु-संतों सहित राजनीतिक दलों के नेता, गणमान्य नागरिक आदि मौजूद रहे।

प्राचीन बिलकेश्वर महादेव मंदिर बाणेश्वर कुंड में आज भगवान शिव का रुद्राभिषेक किया गया। इसके बाद महाआरती हुई। भक्तों ने भगवान के दर्शन किए। पूजा-अर्चना के बाद आज शाम सुंदरकांड होगा। देवी अहिल्या युवा मंच द्वारा आयोजित महाशिवरात्रि महोत्सव में दो दिन तक आयोजन होंगे। संयोजक सुभाष शर्मा ने बताया कि आज महोत्सव के तहत जहां रुद्राभिषेक, महाआरती, महाप्रसादी वितरण और सुंदरकांड होगा। वहीं कल छप्पन भोग लगेंगे और भगवान भोले का श्रृंगार दर्शन होगा। शाम को विशाल भंडारा आयोजित किया गया है।