सनातन ब्राहमण समाज की बैठक में लिए गए अहम निर्णय

प्रतापगढ़ । नगर के मां बेल्हा देवी मंदिर परिसर में शनिवार को सनातन ब्राहमण समाज की बैठक जिला अध्यक्ष सत्येन्द्र नारायण तिवारी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में मुख्य अतिथि ब्राहमण समाज के संरक्षक संतोष भगवन मौजूद रहे। उन्होने अपने सम्बोधन में कहा कि ब्राहमण जो धर्म के विरूद्ध हो वह कार्य नहीं करते और सनातन ब्राहमण धर्म के नियमों का पालन करते है। जैसे वेदो का आज्ञा पालन।

Subscribe My channel ► Khabar Junction

यह विश्वास की मोक्ष तथा अंतिम सत्य की प्राप्ति के लिए अनेक माध्यम है। इस मौके पर सदर अध्यक्ष चन्द्रेश पांडेय ने कहा कि ईश्वर एक है किन्तु उनके गुणगान तथा पूजन हेतु अनगिनत नाम तथा स्वरूप है। शिवेश शुक्ला ने समाज के विषय में चर्चा करते हुए कहा कि ब्राहमण अपनी धारणाओ से अधिक धर्माचरण को महत्व देते है। यह धार्मिक ग्रन्थों की विशेषता है।

बैठक में अन्य वक्ताओं ने ब्राहमण समाज की मजबूती पर बल देते हुए सदस्यता अभियान की शुरूआत की और समूचे जिले में 5000 सदस्य बनाने का लक्ष्य लिया। बैठक में सर्वसम्मति से गरीब असहाय ब्राहमण परिवार की कन्याओं के सामूहिक विवाह कराने के निर्णय एवं परशुराम जयंती पर पर कार्यक्रम के आयोजन हेतु चर्चा की गयी।

बैठक में जूबाए के पूर्व अध्यक्ष विजय शंकर त्रिपाठी, पूर्व बीडीसी परमानन्द मिश्र, शिवेश शुक्ला एडवोकेट, राम प्रताप दूबे, पं. एसवी शुक्ला, पं. लक्ष्मीकांत मिश्रा, पं. सुनित पांडेय, मान मिश्र समेत 70 लोगों ने सनातन ब्राहमण समाज की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण की। बैठक में सुशील तिवारी, रवि कुमार द्विवेदी, विपिन चन्द्र मिश्र, संतोष पांडेय, वीरेन्द्र पांडेय, कृष्ण कुमार, नारायण प्रसाद पांडेय, पं. शिवांग, बृजेन्द्र कुमार त्रिपाठी, महेन्द्र तिवारी, रवीन्द्र मिश्र, डा. देवेन्द्र तिवारी समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।