राज्य की कानून व्यवस्था सुधारना प्राथमिकता- योगी

मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने अपना पहला टी वी इंटरव्यू डीडी न्यूज को दिया। अपने पहले टेलीविजन इंटरव्यू में योगी आदित्यानाथ ने साफ कहा कि उनकी सरकार गुंडा तत्वों के सामने नहीं झुकेगी। उन्होनें कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता राज्य की कानून व्यवस्था को दुरुस्त करना है।

उत्तर प्रदेश में बंपर जीत के बाद राज्य के मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ इन दिनों अपने फैसलों की वजह से सुर्खियों में हैं। तेज-तर्राऱ कार्यप्रणाली, किसानों की कर्जमाफी का वादा पहली ही कैबिनेट में पूरा करने और अवैध बूचड़खानों तथा रोमियो के खिलाफ कार्रवाई करके योगी जनता के दिलों पर राज कर रहे हैं। योगी का कहना है कि राज्य की कानून व्यवस्था को सुधारना उनकी प्राथमिकता है।

योगी ने समाज के सबसे गरीब तबके तक योजनाओं की पहुंच पर जोर देते हुए कहा कि अगर किसी जिले भूख से कोई मरता है तो जिले का डीएम जिम्मेदार होगा और अगर कोई दवाई के बगैर मरता है तो सीएमओ जिम्मेदार होगा।

सीएम बनने के बाद अपने पहले टीवी इंटरव्यू में योगी ने हर मुद्दे पर खुलकर अपनी बात रखी। डीडी न्यूज को दिए इस इंटरव्यू में योगी ने किसान और सरकार की योजनाओं से लेकर शिक्षा, स्वास्थय और हिंदू एजेंडा तक पर विस्तार से बात की।

योगी के इंटरव्यू की अहम बातों पर गौर करें तो योगी ने साफ कहा कि उनकी सरकार गुंड़ा तत्वों के सामने नही झुकेगी। बूचड़खानों पर उन्होंने कहा कि एनजीटी के मानकों का सबको पालन करना होगा और कानून हाथ में लेने वालों को बख्शा नही जाऐगा।

एंटी रोमियो स्कावड़ का किसी धर्म से संबंध होने से इंकार करते हुए योगी ने कहा कि रोमियो का कोई धर्म नही था। किसानों के मसले पर सीएम ने कहा कि गन्ना किसानों का वित्तीय वर्ष 2014- 15 और 15- 16 का बकाया 40 दिन मे भुगतान होगा और ऐसा नही करने पर चीनी मिल प्रबंधन के खिलाफ होगी कार्यवाही।

उन्होंने कहा कि यूपी मे नई चीनी मिलों का ऐलान दूसरी कैबिनेट बैठक में होगा। शिक्षा के सुधार को प्राथमिकता बताते हुए योगी ने कहा कि जल्दी ही पारदर्शिता के साथ शिक्षकों की भर्ती होगी।