जिन क्षेत्रों में पशुओं को लगने वाले टीके नही लगाये गये हैं, वहाँ कैम्प लगाकर टीकाकरण किया जाये-जिलाधिकारी

अमरोहा@ जिलाधिकारी श्री नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में जनपद स्तरीय टास्कफोर्स समिति की एवियन ऐन्फ्लूऐंजा व बर्ड फ्लू से हेतु कलैक्ट्रेट सभागार में बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने इस अवसर पर कहा कि सभी पशु चिकित्सा अधिकारी जनपद अमरोहा के सभी क्षेत्रों में इससे होने वाली बीमारी व बचाव के उपाय की जानकारी दे दी जाये। जिलाधिकारी ने सख्त निर्देश दिये है कि जिन क्षेत्रों में पशुओं को लगने वाले टीके नही लगाये गये हैं, वहाँ कैम्प लगाकर टीकाकरण किया जाये।

इस अवसर पर मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0ब्रजवीर सिंह ने बताया कि इसका कोई इलाज नही है, यह एक माहमारी है। उन्होने कहा कि इस बीमारी से बचाव के लिये कोई वैक्सीन नही है। उन्होने कहा कि यह एक वायरस है, जो एन्जाइम होता है। इसमें ब्यूटेशन तीव्र गति से होता है,इससे बचाव ही इलाज है। इस अवसर पर बरसात में होने वाले रोग खुरपका, मुहूँपका व थनैला, गलघोटू आदि रोगों की जानकारी भी मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने दी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी श्री संजय कुमार जैन ने कहा कि स्वाइन भी उत्तर प्रदेश में तेजी के साथ बढ़ रहा है। उन्होने कहा कि जनपद अमरोहा में भी धनौरा क्षेत्र में 03 अमरोहा क्षेत्र में 03 केस मिले हैं। उन्होने कहा कि स्वाइन फ्लू सुअरों के जुकाम से जाना जाता है, इसका वायरस एच 1,एन 1 है। यह सुअर के द्वारा फैलता है। इसका इलाज 99 प्रतिशत तक हो जाता है।

बैठक में अपर जिलाधिकारी श्री महमूद आलम अंसारी,मुख्य विकास अधिकारी,मुख्य चिकित्सा अधिकारी, समस्त उपजिलाधिकारी,जिला पंचायत राज अधिकारी, सभी पशु चिकित्सा अधिकारी व अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।