अद्यतन जानकारी के बिना बैठक में आने वालों पर होगी कार्यवाही-कलेक्टर

पन्ना | कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टर जे.पी. आईरीन सिंथिया द्वारा समय सीमा के प्रकरणों की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में समय सीमा में पूर्ण किए जाने वाले प्रकरणों तथा सीएम हेल्पलाईन में लंबित प्रकरणों के निराकाण की विभागवार समीक्षा की गयी। बैठक में कलेक्टर ने राजस्व विभाग के लंबित प्रकरणों के निराकरण, आवासीय पट्टे, फसल बीमा, मतदाता सूची, समाधान ऑनलाईन के लिए चयनित मुद्दों, स्वरोजगार योजनाओं की प्रगति आदि की भी विभागवार समीक्षा की। कलेक्टर ने अधिकारियों को प्रकरणों के निराकरण की अद्यतन जानकारी के साथ उपस्थित होने का निर्देश देते हुए कहा कि अगली समीक्षा बैठक से अद्यतन जानकारी तथा नवीन आंकड़ो के बिना आने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।

बैठक में कलेक्टर ने जिले में बाढ की स्थिति की जानकारी लेते हुए कहा कि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व नियमित क्षेत्रीय अधिकारियों से नदियों का जल स्तर चेक कराते रहे। जल संसाधन विभाग भी नियमित बांधों के जल स्तर की जांच करें। खतरे की स्थिति का अंदेशा होते ही तत्काल इसकी सूचना जिला प्रशासन तथा संबंधित कन्ट्रोल रूम को दें। बाढ की स्थिति से निपटने के लिए स्थानीय स्तर पर भी पूरी तैयारी रखें। सभी तहसीलदार तथा एसडीएम मतदाता सूची को अद्यतन करने के लिए फोटो कलेक्शन का कार्य 2 सप्ताह के अन्दर पूर्ण करें। बैठक में समयसीमा प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि गरीबी रेखा सूची से अपात्रों के नाम हटाने की कार्यवाही तत्काल प्रारंभ कराए। संबंधित राजस्व अधिकारी अपात्रों की अपात्रता के संबंध में स्वयं सत्यापन कर कारणों सहित प्रतिवेदन तैयार कर नाम हटाने की कार्यवाही करें। वास्तविक पात्रों को गरीबी रेखा का लाभ दिलाना सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारियों जनपद को पिछले वर्षो के अधूरे निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिए।

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि यूडीआईडी साफ्टवेयर में निःशक्तजनों से संबंधित जानकारी 31 जुलाई तक अनिवार्य रूप से दर्ज कराए अन्यथा संबंधित अधिकारी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी तय की जाएगी। इसी तरह सामाजिक सुरक्षा पेंशन के हितग्राहियों में जिनके आधार कार्ड अभी तक नही बन सके हैं, शिविर लगाकर आधार पंजीयन कराना सुनिश्चित करें। हितग्राहियों के फोटो तथा मोबाईल नम्बर पोर्टल पर दर्ज करने का कार्य शत प्रतिशत पूर्ण कराए। समग्र पोर्टल पर प्रथम दृष्टया पात्र पाए गए पेंशन हितग्राहियों में से पात्र-अपात्रों का सत्यापन कार्य अभी भी पूर्ण नही हो सका है। इस कार्य को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराए तथा प्रगति की प्रतिदिन रिपोर्टिंग करें। उन्होंने प्रत्येक हितग्राही को पेंशन का लाभ समय सीमा में प्रदाय करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने कहा कि आम आदमी तथा जनश्री बीमा योजना के पात्र व्यक्तियों का पोर्टल पर चिन्हांकन एवं सत्यापन कार्य जुलाई माह तक पूर्ण हो जाना चाहिए। मुख्य नगरपालिका अधिकारी एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद इस कार्य में संतोषजनक प्रगति हेतु विशेष प्रयास करें। संनिर्माण कर्मकार मंडल तथा श्रमिक पोर्टल के अन्तर्गत श्रमिकों के पंजीयन नवीनीकरण का कार्य शीघ्र पूरा कराए। प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत गैस कनेक्शन उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि जिले की लगभग 50 उचित मूल्य दुकानों पर पीओएस मशीनें उपलब्ध है। संबंधित ग्राम तथा आसपास के क्षेत्रों के पेंशन हितग्राहियों तथा मनरेगा के श्रमिकों का निर्धारित सीमा तक का भुगतान इन मशीनों के माध्यम से कराएं ताकि हितग्राहियों को नगद राशि लेने बैंक तक न आना पडे। कलेक्टर ने कहा कि अब विभागों की मासिक समीक्षा बैठकों में भी सीएम हेल्पलाईन तथा समय सीमा प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा की जाएगी। संबंधित विभाग इन प्रकरणों के निराकरण की अद्यतन जानकारी के साथ बैठक में उपस्थित होना सुनिश्चित करें। समय सीमा के प्रत्येक प्रकरण में जबाव दर्ज होना चाहिए। प्रकरणों का आधा अधूरा निराकरण स्वीकार नही किया जाएगा।

बैठक में कलेक्टर ने आवासीय पट्टों के वितरण कराए जाने के संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि मुख्य नगरपालिका अधिकारी तथा तहसीलदार आवासीय पट्टे जारी करने हेतु सर्वे तत्काल प्रारंभ करें। आबादी क्षेत्र में ही पट्टे दिलाना सुनिश्चित करें। उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को इस कार्य की नियमित मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिए। बैठक में निर्देश देते हुए कलेक्टर ने कहा कि समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद तथा नगरपालिका अधिकारी अनुसूचित जाति एवं जनजाति के व्यक्तियों की वार्डवार, ग्रामवार तथा मजराटोलावार जानकारी तैयार कर जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण को शीघ्र उपलब्ध कराए। जिससे शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं का लाभ संबंधित हितग्राहियों को दिया जा सके। कलेक्टर ने राजस्व विभाग के अधिकारियों को दो वर्ष से अधिक अवधि से लंबित राजस्व प्रकरणों का निराकरण शीघ्र कर ऑनलाईन दर्ज करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कहा कि लेबल-3 तथा 4 पर लंबित प्रकरणों में संतोषप्रद एवं तर्कपूर्ण निराकरण की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों के माध्यम से प्राथमिकता के आधार पर अद्यतन कराए। इसी तरह लेबल-1 एवं 2 पर ही प्रकरणों का संतोषपूर्ण निराकरण कराना सुनिश्चित करें। जबाव दर्ज न होने के कारण किसी प्रकरण के अगले स्तर पर पहुंचने पर संबंधित अधिकारी की जिम्मेदारी तय की जाएगी। कलेक्टर ने अधिकारियों को बैठक में पूरी तैयारी के साथ समय पर उपस्थित होने के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गिरीश कुमार मिश्रा, जिला पंचायत के अतिरिक्त कार्यपालन अधिकारी अशोक चतुर्वेदी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, मुख्य कार्यपालन अधिका