इनकम टैक्स के इन 15 खुफि‍या रास्‍तों से आप नहीं बच सकते

नई दि‍ल्‍ली. इनकम टैक्‍स डि‍पार्टमेंट की नाक अब पहले के मुकाबले बहुत तेज हो गई है। आपने शायद नोट कि‍या होगा कि‍ नोटबंदी के बाद से छापेमारी और बरामदी बढ़ गई है। कुछ लोग कह रहे थे कि‍ 2000 के नोटों में चि‍प लगी है, फि‍र कुछ ने कहा कि‍ इनमें रेडि‍योएक्‍टि‍व मटीरि‍यल लगा है। मगर ऐसा कुछ नहीं है। डि‍पार्टमेंट ने इनफॉर्मेशन जुटाने के लि‍ए पुरानी और एडवांस तकनीकों का ऐसा जाल बुना है कि‍ हर बड़ी ट्रांजेक्शन छनकर उसके हाथ में आ जाती है।

1 कि‍सी भी खाते में अगर 10 लाख या उससे ऊपर की रकम सालभर में जमा कराई गई है तो बैंक उसकी जानकारी इनकम टैक्‍स डि‍पार्टमेंट को देता है।

2 अगर कि‍सी ने 10 लाख या उससे ऊपर की एफडी की है तो ये जानकारी भी बैंक डि‍पार्टमेंट को देता है।

3 क्रेडि‍ट कार्ड की पेमेंट में 1 लाख या उससे ऊपर नकद देने पर इसकी जानकारी दी जाती है। एक साल के दौरान 10 लाख या उससे ऊपर की क्रेडि‍ट कार्ड की पेमेंट के लि‍ए जारी चेक या ऑनलाइन ट्रांसफर की सूचना भी वि‍भाग को दी जाती है।

4 नोटबंदी के बाद से लेकर 30 दि‍संबर 2016 के बीच कि‍सी भी शख्‍स के एक या उससे ज्‍यादा बैंक अकाउंट में अगर 2.5 लाख रुपये या उससे ज्‍यादा जमा हुए हैं तो उसकी जानकारी मांगी गई है। इसपर काम भी शुरू हो चुका है।

5 करंट एकाउंट के मामले में नोटबंदी के दौरान 12.5 लाख रुपये या उससे ज्‍यादा की रकम जमा हुई हो।

6 टैक्‍स डि‍पार्टमेंट से जारी नोटि‍फि‍केशन के मुताबि‍क, 1 अप्रैल 2016 से 9 नवंबर 2016 के बीच कि‍सी की एकाउंट में अगर कोई ऐसी ट्रांजैक्‍शन हुई है जि‍सपर बैंकवालों को शक है तो उसकी सूचना वि‍भाग को दी जाएगी।

7 बॉन्‍ड या डि‍बेंचर खरीदने के लि‍ए एक फाइनेंशि‍यल ईयर में अगर कि‍सी शख्‍स ने 10 लाख या उससे ज्‍यादा की पेमेंट की है तो जि‍न कंपनि‍यों या संस्‍थान से यह खरीदारी हुई है उन्‍हें यह जानकारी देनी होगी। म्‍यूचुअल फंड या शेयर के बाईबैक के बारे में भी इसी तरह की सूचना को साझा करना होगा।

8 दस लाख या उससे ज्‍यादा के ट्रैवलर्स चेक और फॉरेक्‍स कार्ड की खरीदारी।

9 तीस लाख या उससे ऊपर की कि‍सी भी प्रॉपर्टी की सेल की सूचना प्रॉपर्टी रजि‍स्‍ट्रार इनकम टैक्‍स डि‍पार्टमेंट को देता है।

10 अगर आपने 5 लाख रुपए से अधिक की कार खरीदी है तो इनकम टैक्‍स विभाग के पास इसकी जानकारी पहुंच चुकी होगी।

11 अगर कोई व्यक्ति गोल्ड ईटीएफ में एक लाख रुपए से अधिक का इनवेस्‍टमेंट करता है तो यह जानकारी आयकर विभाग को दी जाती है।

12 अगर कोई इनवेस्‍टर शेयर बाजार में 1 लाख रुपए से अधिक का इनवेस्‍टमेंट करता है।

13 क्रेडिट कार्ड से एक साल में 2 लाख या उससे ऊपर की खरीदारी की सूचना।

14 अगर आपने कि‍सी दुकान से दो लाख रुपए या उससे अधि‍क की खरीदारी की है तो इसकी सूचना आयकर विभाग को जाती है।

15 आठ से 10 नवंबर के बीच जि‍न लोगों ने सोने की खरीदारी की है उनकी जानकारी भी डि‍पार्टमेंट ज्‍वैलर्स से मांग चुका है।