मुख्य युद्ध टैंक इंजन का स्वदेशी निर्माण

इस ख़बर को शेयर करें:

स्वदेशी रक्षा निर्माण के क्षेत्र में अहम कदम उठाते हुए चेन्नई की अवाडी इंजन फैक्टरी ने मुख्य युद्धक टैंक टी -72 और टी-90 का इंजन बनाया। स्वदेश निर्मित इंजन को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारतीय सेना को सौंपा, साथ ही रक्षा क्षेत्र में स्वदेशी निर्माण को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता भी जताई।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने चेन्नई के अवाडी में मुख्य युद्धक टैंक टी-72 और टी-90 के लिए स्वदेश में विकसित इंजन को सेना को सौंपा। चेन्नई स्थित अवाडी इंजन फैक्ट्री में टी-72 अजेय टैंक के लिए वी-46-6 इंजन को और टी-90 भीष्म टैंक के लिए वी-92-एस-2 इंजन को विकसित किया गया है। इन दोनों इंजनों को पूर्ण रूप से स्वदेश में ही विकसित किया गया है। कार्यक्रम में रक्षा मंत्री ने रक्षा क्षेत्र में स्वदेशी तकनीक को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता भी जताई।