जबलपुर में फिल्म निर्माण के संभावनाओं एवं सुविधाओं पर जिला प्रशासन की पहल

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर। मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड की पहल पर मध्यप्रदेश फिल्म निर्माण नीति 2000 के तहत प्रदेश के विभिन्न अंचलों सहित जबलपुर में भी फिल्मों की शूटिंग के लिए सुविधाएं तथा विशेष अनुदान की पहल की गई है।

इसी परिप्रेक्ष्य में आज जिला प्रशासन की पहल पर तथा जबलपुर टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल के समन्वय से अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित की अध्यक्षता में एक विशेष बैठक फिल्म निर्माताओं तथा स्थानीय कलाकारों एवं संनिर्माण से जुड़े हुए व्यक्तियों के साथ आयोजित की गई।

 

गोलबाजार स्थित शहीद स्मारक के सभागार में आयोजित इस बैठक में मौजूद सभी प्रतिभागियों से आमने-सामने परिसंवाद एवं संवाद की नीति अपनाई गई। कार्यक्रम के आरंभ में सी.ई.ओ. जेटीपीसी हेमंत सिंह द्वारा फिल्म निर्माण की शूटिंग की अनुमति एवं सुविधाओं पर मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड की नीति के परिप्रेक्ष्य में चर्चा की गई।

इस अवसर पर हैदराबाद से आए सबसटीन नोह तथा मुंबई से आए श्री अभिनव जैन ने अपने विचार रखे। बैठक में अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित ने जबलपुर में फिल्म शूटिंग की संभावना तथा स्थानीय कलाकारों एवं फिल्म में उद्योग से जुड़े व्यक्तियों की पारस्परिक सहभागिता पर अपने विचार व्यक्त किये।

जबलपुर में एकल खिड़की के आधार पर फिल्म शूटिंग की समस्त अनुमति हो एवं सहयोग पर विधिवत चर्चा की गई परस्पर संवाद कार्यक्रम में गिरीश बिल्लौर, देवेंद्र सिंह ग्रोवर, आशीष पाठक, प्रदीप श्रीवास्तव, विनय अंबर, हर्ष अग्रवाल, आशुतोष द्विवेदी, जयंत वर्मा, बसंत काशिकार ने भी अपने-अपने विचार अभिव्यक्त किये।

अपर कलेक्टर एवं सीईओ जेटीपीसी ने सभी की शंकाओं का समाधान किया तथा उनके प्रश्नों के उत्तर दिए। कार्यक्रम का संचालन एवं समन्वय उपेंद्र कुमार यादव द्वारा किया गया। मध्य प्रदेश पर्यटन विकास निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक आलोक सक्सेना भी बैठक में उपस्थित रहे।

इस अवसर पर जबलपुर शहर के अनेक थिएटर संगीत नृत्य कला आदि से जुड़े हुए कलाकार एवं उद्यमी उपस्थित रहे। इनमें निलंगी कलंतरे, भैरवी विश्वरूप, डॉक्टर रेणुका पांडे, डॉक्टर शिप्रा सुल्लेरे की सहभागिता रही।