अपर पुलिस महानिदेशक, कानून एवं व्यवस्था उ0प्र0 लखनऊ द्वारा कुम्भ मेले का भ्रमण निरीक्षण

प्रयागराज :प्रयागराज 2019 महाकुंभ में आनन्द कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था उ0प्र0 लखनऊ द्वारा कुम्भ मेला प्रयागराज का भ्रमण/निरीक्षण किया गया। सर्वप्रथम अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था उ0प्र0 लखनऊ द्वारा रात्रि 12ः00 बजे कुम्भ मेला क्षेत्र प्रयागराज में बड़े हनुमान मन्दिर क्षेत्र का भ्रमण करने के उपरान्त थाना संगम, संगमघाट, गोरखनाथ अखाड़ा का निरीक्षण किया गया। साथ ही अक्षयवट का दर्शन एवं आवागमन मार्ग का भी निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था हेतु सम्बन्धित अधिकारियों/कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था उ0प्र0 लखनऊ द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुम्भ मेला कार्यालय के अलकनन्दा सभागार में पुलिस/ अर्द्धसैनिक बल के अधिकारियों के साथ कुम्भ मेला 2019 के दृष्टिगत सुरक्षा व्यवस्था हेतु महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर समीक्षा बैठक की गयी। उक्त समीक्षा बैठक के दौरान अपर पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था द्वारा कुम्भ मेला क्षेत्र से सम्बन्धित समस्त प्रकार की सुरक्षा योजना, कन्टीजेंसी प्लान, भीड़ नियंत्रण व यातायात प्रबन्धन, आपात कालीन योजना, भगदड़ की स्थिति से निपटने हेतु कार्ययोजना तथा मेले में स्थापित खोया-पाया केन्द्रों के कुशल क्रियान्वयन पर जोर देते हुए कतिपय बिन्दुओं पर सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। मेला क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था से जुडे़ समस्त अधिकारियों/कर्मचारियों को अपने-अपने डियूटी की भली-भांति जानकारी हो एवं मुख्य स्नान पर निष्ठा व लगन से अपनी-अपनी ड्यूटियों का कुशलता से निर्वहन करें। भगदड़ की स्थिति से निपटने हेतु सभी सुरक्षा एजेन्सियाॅं आपसी तालमेल से प्रभावी ढंग से श्रद्धालुओं को सुरक्षित तरीके से निकाले। डियूटी के दौरान छोटी-छोटी घटनाओं एवं संदिग्ध व्यक्तियों पर कड़ी निगरानी रखें। जिससे किसी प्रकार की घटना/भगदड़ न होने पाये।कुम्भ मेला एक विश्वस्तरीय पर्व है जिसके दृष्टिगत वर्तमान परिवेश के अनुरूप प्रभावी कार्य योजना तैयार कर अपने दायित्वों का पेशेवर तरीके से निर्वहन करें। कुम्भ मेले के दृष्टिगत आंतकवादी गतिविधियों पर एटीएस एवं अन्य सुरक्षा एजेन्सियाॅं विशेष सतर्कता रखें।जोनल/सेक्टर आफिसर अपने-अपने क्षेत्र की महत्वपूर्ण जानकारी रखें तथा क्षेत्र में जो भी कार्यक्रम हों उन पर सतर्क दृष्टि रखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करें। मुख्य स्नान पर्व के दौरान यातायात प्रबन्धन पर विशेष ध्यान दिया जाए तथा निर्धारित पार्किंग स्थलों में वाहनो को खड़ा कराया जाए। साथ ही निर्धारित डायवर्जन योजना का शत-प्रतिशत अनुपालन करे। मुख्य स्नान पर्व के अवसर पर वीआईपी मूवमेन्ट नही होगा। इसके अतिरिक्त अन्य अवसरों पर वीआईपी कार्यक्रम से पूर्व सुरक्षा व्यवस्था की कार्य योजना तैयार कर रिहर्सल करा ले।  मेले में सम्भावित घटनाओं के दृष्टिगत सुरक्षा प्रबन्ध हेतु समस्त एजेन्सियाॅं अपनी-अपनी कार्ययोजना तैयार कर समन्वय के साथ रिहर्सल कराना सुनिश्चित करें। कुम्भ मेले में आने जाने वाले मार्गों का व्यापक प्रचार प्रसार विभिन्न समाचार पत्रों, सोशल मीडिया, एलईडी स्क्रीन आदि के माध्यम से कराये।  रेलवे स्टेशनों/ट्रैकों की नियमित सघन चेकिंग/पेट्रोलिंग कराते हुए आकस्मिक घटनाओं के दृष्टिगत अलग से कन्टीजेन्सी योजना तैयार रखी जाए तथा रेलवे विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से समन्वय स्थापित करें तथा यह सुनिश्चित करें कि आकस्मिक रूप से ट्रेनों के प्लेटफार्म में परिवर्तन न हो।मेले में नियुक्त जोनल/सेक्टर अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र के सीमा से लगे जनपदीय अधिकारियों से परस्पर समन्वय स्थापित रखें।मेले के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था हेतु प्रभावी जल पुलिस प्रबन्ध व अग्निशमन प्रबन्ध करे तथा इस प्रकार की घटनाओं में त्वरित कार्यवाही करें। साथ ही अन्य एजेन्सियों के अधिकारियों/कर्मचारियों के साथ समन्वय स्थापित करें।मेले में महत्वपूर्ण भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से सतर्क निगरानी रखे तथा आपातकालीन स्थिति में समस्त विभाग के एक भिज्ञ अधिकारी कन्ट्रोल रूम में बैठकर आवश्यक कार्यवाही तत्परता से करें। मेले में संचार व्यवस्था पर भी विशेष ध्यान दे।  समीक्षा बैठक के दौरान अपर पुलिस महानिदेशक जोन प्रयागराज श्री एस0एन0 साबत, पुलिस महानिरीक्षक परिक्षेत्र प्रयागराज श्री मोहित अग्रवाल, पुलिस महानिरीक्षक रेलवे प्रयागराज श्री बी0आर0 मीना, पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुम्भ मेला प्रयागराज श्री कवीन्द्र प्रताप सिंह, पुलिस उपमहानिरीक्षक सीआईएसएफ श्रीमती वी0 खामो, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज श्री नितिन तिवारी, पुलिस अधीक्षक एटीएस श्री विनोद कुमार सिंह एवं पुलिस/अर्द्धसैनिक बल के अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।[ ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज]