जरूरी है भेंगेपन का सही समय पर इलाज

भेंगापन यानि आंखों का तिरछापन काफी बच्चों में देखा जाता है। भेंगेपन के बारे में ये भी कहा जाता है कि ये समस्या समय के साथ अपने आप ठीक हो जाएगी लेकिन क्या आप जानते है कि यदि भेंगेपन का इलाज न हो तो बच्चे की नज़र प्रभावित हो सकती है।

बच्चों में भेंगापन एक आम समस्या है जिसे अकसर नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है

बच्चों में भेंगापन एक आम समस्या है जिसे अकसर नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है। इसमें एक आंख से दूसरी आंख का तालमेल नहीं रहता। अगर सही समय पर सही इलाज द्वारा भेंगेपन को ठीक किया जा सकता है । भेंगेपन में चश्मा पहनने से लाभ होता है जबकि कुछ मामलों में सर्जरी की आवश्यकता पड़ती है। हर माता-पिता को ढाई से 3 साल की उम्र में अपने बच्चे की आंखों की जांच अवश्य करवानी चाहिए । जिससे भेंगेपन या आंखों की कोई अन्य बीमारी को जल्द से जल्द पहचाना जा सके ।