जांबाज सिपाही ने अपनी जान पर खेलकर बचाई आग की लपटों में घिरे 9 लोगों की जान

हरदोई जिला के पिहानी कोतवाली क्षेत्र के धामपुर गांव में सोमवार सुबह एलपीजी गैस सिलेंडर में आग लगने से एक मासूम बच्ची की मौत हो गई जबकि 9 लोग गंभीर रूप से झुलस गए। घटना से चारो तरफ चीख पुकार मची थी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने राहत एवं बचाव कार्य की कमान संभाली हुई थी। पुलिस टीम की कमांडिंग इंस्पेक्टर श्यामबाबू शुक्ला कर रहे थे। घर को आग की लपटें घेरे हुए थीं, अंदर आग में फंसे बच्चे और महिला जोर-जोर से चिल्ला रही थी। बच्चों के चीखने की आवाज सुनकर अपनी जान की परवाह ना करते हुए कोतवाली में तैनात जांबाज सिपाही राजेश दुबे जान पर खेलकर घर में घुस गया। सिपाही ने सभी घायलों को एक एक करके आग की लपटों से सकुशल बाहर निकाल लिया। सिपाही के इस जज्बे को ग्रामीणों ने सेल्यूट किया है। वहीं एसपी हरदोई विपिन कुमार मिश्रा ने जांबाज सिपाही को पुरस्कृत कर प्रशस्तिपत्र देने का ऐलान किया है। सिपाही की फोटो भी सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रही है।

सिलेंडर में विस्फोट से घर में लगी आग, मासूम बच्ची की मौत 9 घायल
उत्तर प्रदेश के हरदोई जिला के पिहानी थाना क्षेत्र में दिल को दहला देने वाली ये घटना आज घाटी। यहां एक गांव में खाना बनाते समय गैस रिसाव से सिलेंडर में आग लग गई। इससे सिलेंडर में विस्फोट (ब्लास्ट) हो गया। विस्फोट से घर में आग लग गई और घर में मौजूद एक महिला सहित दस लोग गंभीर रूप से झुलस गए। घटना से गांव में कोहराम मच गया और पड़ोसी आग बुझाने लगे। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पिहानी कोतवाली प्रभारी श्यामबाबू शुक्ला पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और राहत बचाव करते हुए सभी घायलों को एम्बुलेंस के जरिये पिहानी सीएचसी में भर्ती कराया। यहां डॉक्टरों ने हालत को गंभीर देखते हुए सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। यहां इलाज के दौरान एक मासूम बच्ची ने दम तोड़ दिया, जबकि नौ लोगों का उपचार चल रहा है। पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से गांव में हाहाकार मचा हुआ है। आग लगने से घर की सारी गृहस्थी खाक हो गई है।

आग लगते समय घर में ज्यादातर बच्चे ही थे
जानकारी के मुताबिक, मामला पिहानी कोतवाली क्षेत्र के धामापुर गांव का है। यहां सोमवार सुबह गांव के ही सत्यपाल के घर रिश्तेदार आये हुए थे। बताया जा रहा है कि घर में दो सिलेंडर हैं। इनमें से एक में गैस का रिसाव हो रहा था लेकिन ये बात किसी को पता नहीं चल पाई। सरिता खाना बना रही थी कि अचानक रिवाव के चलते सिलेंडर में आग लग गई। घरवाले जब तक कुछ समझ पाते तब तक आग ने पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। आग लगने के कुछ देर बाद सिलेंडर जोरदार धमाके के साथ फट गया। धमाके से फर्श और दीवार क्षतिग्रस्त हो गई।

घटना के बाद घर में मचा कोहराम
धमाका की आवाज काफी दूर तक सुनी गई। ग्रामीणों के मुताबिक, सुबह के वक्त सब खेतो की तरफ गए थे घर में ज्यादातर बच्चे ही थे। बच्चे भाग नहीं पाए और वह आग में झुलस गए। चीखपुकार सुनकर पड़ोसी दौड़े और पुलिस को घटना की सूचना दी। सूचना पाकर फौरन पुलिस मौके पर पहुंची और सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। जिला अस्पताल में एक बच्ची की मौत हो गई जबकि झुलसे हुए 9 लोगों का उपचार चल रहा है। घटना के बाद से घर में कोहराम मचा हुआ है, सभी घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है।

ये लोग झुलसे और एक बच्ची की हुई मौत

पिहानी कोतवाली इलाके के धामापुर में खाना बनाते समय आग लगने से घर की ग्रहस्थी जलकर खाक हो गई। परिजनों के मुताबिक, घर में रखी नगदी और सामान सहित कुल 5 लाख रुपये का नुकसान होने का अंदाजा है। इस हादसे में रौजा शाहजहांपुर के रहने वाली नन्ही (25), रोली (4 माह), अंजली (9), खुशबू (12), अपने मां सत्यपाल के घर आई थी, ये सभी आग में झुलस गए, जबकि काजल (7) की इस घटना में मौत हो गई है। वहीं पूजा (12), दिलीप (4), अंकुश (9) सहित खाना बनाते समय सरिता (25) पत्नी मझलिके भी झुलस गई। इस सभी का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।