जबलपुर में शीघ्र प्रारंभ होगा विक्षिप्तों हेतु आश्रय गृह, यह अपने तरह का होगा प्रदेश का पहला केंद्र

जबलपुर । आयुक्त निःशक्तजन संदीप रजक और कलेक्टर जबलपुर कर्मवीर शर्मा की उपस्थिति में दिव्यांगजनों की योजनाओं की जिला स्तर पर  क्रियान्वयन की समीक्षा की गई। विशेष रूप से विक्षिप्त जन जो सड़कों पर या अन्य खुले स्थानों पर मिलते हैं उनके लिये विशेष आश्रय गृह का संचालन प्रारंभ किये जाने की कार्ययोजना बनाने निर्णय हुआ यह अपने तरह का प्रदेश का पहला केंद्र होगा । संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं सचिव रेड क्रॉस सोसायटी आशीष दीक्षित को इसकी कार्य योजना तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

उल्लेखनीय है कि इस संबंध में कमिश्नर जबलपुर संभाग महेश चंद्र चौधरी एवं आयुक्त निशक्त जन द्वारा वीसी के माध्यम से सामाजिक न्याय विभाग की संभागीय समीक्षा के दौरान निर्देशित किया गया था। साथ ही पूर्व से चिन्हांकित उपकरणों का वितरण दिव्यांग जनों को सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए करने, डी डी आरसी के रिक्त पदों की शीघ्र पूर्ति करने, ब्लॉक स्तर पर मेडिकल बोर्ड के माध्यम से दिव्यांग प्रमाण पत्र बनाए जाने  हेतु निर्देशित किया।

शासन के कोरोना काल मे दिव्यांगजनों के लिये किये जा रहे प्रयासों पर भी चर्चा हुई एवं जबलपुर जिले में दिव्यांग जनों हेतु उपलब्ध कराई गई सेवाओं और किए गए कार्यों की आयुक्त निशक्त जन द्वारा प्रशंसा की गई।बैठक में जिला प्रोग्राम अधिकारी स्वास्थ्य श्री विजय पांडे उपस्थित भी उपस्थित रहे।