शिवसेना में शामिल हुए जगमोहन वर्मा, सांवेर से लड़ेंगे चुनाव
इस ख़बर को शेयर करें

इंदौर। उपचुनाव(By election) के मद्देनजर नेताओं के दल बदलने का सिलसिला जारी है। पार्टी से नाराज हो टिकट न मिलने से खफा नेता लगातार दल बदल कर दूसरी पार्टी में शामिल हो रहे हैं। इसी बीच पिछले दिनों बीजेपी(bjp) की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देते हुए जगमोहन वर्मा(jagmohan verma) ने सबको चौका दिया था। जिसके बाद जगमोहन वर्मा को मनाने की कवायद जारी थी। अब आ रही खबरों के मुताबिक जगमोहन वर्मा बीजेपी से इस्तीफा देकर शिवसेना(shivsena) में शामिल हो गए हैं।

दरअसल बीजेपी के दिग्गज दिवंगत प्रकाश सोनकर के करीबी माने जाने वाले और सहकारिता प्रकोष्ठ के नगर संयोजक जगमोहन वर्मा ने बीजेपी के प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। पार्टी छोड़ने के ऐलान के साथ ही उन्होंने बड़े दिग्गज को चौंका दिया था। जिसके बाद बगावती सुर अपनाने के बाद भाजपा नेता को मनाने आज नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे और विधायक आकाश विजयवर्गीय(akash vijayvargiya) उनके घर पहुंचे थे।

शिवसेना की टिकट पर सांवेर से लड़ेंगे चुनाव

बीजेपी नेताओ ने जगमोहन वर्मा को समझाने का बहुत प्रयास किया कि वह पार्टी में बने रहे। उनकी नाराजगी को दूर किया जाएगा लेकिन भाजपा नेताओं की लाख समझाने के बाद भी जगमोहन नहीं माने और शिवसेना में शामिल हो गए। अब जगमोहन वर्मा शिवसेना की टिकट पर सांवेर से चुनाव लड़ेंगे।

होगा त्रिकोणीय मुकाबला

वही चर्चाओं की माने तो कई वर्षों से बीजेपी में निस्वार्थ भाव से काम करने के बावजूद उन्हें पार्टी की तरफ से कुछ नहीं मिला। जिसकी वजह से जगमोहन वर्मा खफा है। वही सांवेर के ग्रामीण अंचलों में जगमोहन वर्मा की अच्छी पकड़ है। इसलिए अब माना जा रहा है कि सांवेर की सियासत में मुकाबला त्रिकोणीय होगा।

जगमोहन वर्मा के शिवसेना के टिकट पर चुनाव लड़ने के बाद यह तो जाहिर है कि भाजपा प्रत्याशी तुलसी सिलावट और कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमचंद गुड्डू आसान होने वाली नहीं है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि 10 नवंबर को सांवेर की जीत का सेहरा किसके सर सजता है।