जेल मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने किया जेल का निरीक्षण

भिण्ड@ जेल एवं पीएचई विभाग की मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने आज जिला मुख्यालय भिण्ड स्थित जिला जेल का निरीक्षण किया। साथ ही केदियों को दी जा रही सुविधाओं की जानकारी दी। उन्होंने केदियों की बैरिक में पहुंचकर उन्हें प्रदान किए जा रहे नाश्ता और भोजन के बारे में चर्चा की। इस दौरान कैदी सुरेश शर्मा ने बताया कि सुगर का प्रेसेन्ट हूं, मेरी बीमारी के अनुसार नाश्ता भोजन प्रदान करने की मांग रखी। जेल मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने जिला जेल भिण्ड में 6 बैरिको में रखे गए केदियों को नियमित रूप से भोजन तथा सुगर के प्रेसेन्ट कैदी का समय समय पर ईलाज कराने के दिशा निर्देश दिए। मंत्री सुश्री महदेले ने कैदियों को उपलब्ध कराए जा रहे नाश्ता और भोजन की स्टॉक पंजी देखी। साथ ही कैदियों को आज प्रदान किए गए भोजन में दाल, रोटी, गोबी आलू की सब्जी की व्यवस्था देखी। उन्होंने भण्डारगृह में पहुंचकर गेहूं, दाल, चावल आदि राशन का सत्यापन कराया। इसीप्रकार निर्माणाधीन नवीन जेल के पूर्ण होने की जानकारी जेलर से प्राप्त की।

जेल मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी एवं पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह कुशवाह से जेल की व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की। उन्होंने चर्चा के दौरान कहा कि जेल के कैदी गोपाल सिंह भदौरिया को रिफर करने एवं आईसीयू में भर्ती कराने की जांच कराई जावे। साथ ही कैदी भदौरिया को उपलब्ध कराई गई सुविधाओं का जांच में पूरा व्यौरा दिया जावे। इसीप्रकार जांच में दोषी पाए जाने वाले जेलर, चिकित्सक आदि पर कार्यवाही प्रस्तावित की जावे। पीएचई मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी से जिले की नलजल योजनाओं और हैण्डपंपो के संधारण आदि के बारे में भी चर्चा की। साथ ही कार्यपालन यंत्री, सहायक यंत्रियों के रिक्त पदो को भरने के लिए उन्हें आश्वस्त किया। उन्होंने कहा कि जेल के निरीक्षण में व्यवस्थाऐं ठीक पाई गई है। इस जिला जेल का पूर्व में एडीजी जेल श्री जीआर मीणा द्वारा भी निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया जा चुका है। कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने इस अवसर पर बताया कि कैदी भदौरिया को रिफर करने और सुविधाओं की जांच कराई जावेगी। साथ ही निर्माणाधीन नवीन जेल के निर्माण कार्य को समय सीमा में एजेंसी के माध्यम से पूरा कराया जावेगा। इसीप्रकार कैदियो की सुविधा के लिए समय समय पर जिला जेल का निरीक्षण किया जाकर व्यवस्थाऐं समय समय पर देखी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले में 21 हजार हैण्डपंप स्थापित है। जिनके संधारण का कार्य पीएचई के विभाग के अमले द्वारा किया जा रहा है। मेहगांव एवं गोहद के क्षेत्र के कुछ इलाके में खरा पानी है। वहां व्यवस्थाऐं सुनिश्चित की जावेगी।

जेल मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने जिला जेल भिण्ड के निरीक्षण के दौरान पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश में पेयजल के लिए 900 करोड रूपए का प्रावधान केन्द्र और राज्य सरकार के सहयोग से किया गया है। इस राशि से आगामी दो वर्ष में टोटी से पानी देने की सुविधा नागरिको को मुहैया कराई जाएगी। भिण्ड जिले के अटेर क्षेत्र में 35 नवीन हैण्डपम्प पेयजल की दिशा में आवश्यकता वाले गांवो में लगाए जावेंगे।