क्वारंटाइन खत्म होने के बाद 17 जमाती भेजे गए जेल

बहराइच : देशभर में कोरोना वायरस ने तबाही मचा दी है. इस महामारी के बढ़ने की एक वजह पिछले दिनों दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज़ में तबलीग़ी जमात द्वार्रा किया गया एक कार्यक्रम भी है. मस्जिद में जमातियों की मौजूदगी के बारे में सूचना मिलने पर पुलिस ने इन सभी को हिरासत में लिया था और आइसोलेशन वार्ड में रखा था.

क्वारंटाइन अवधि खत्म होने के बाद यहां 17 जमातियों को रविवार को जेल भेज दिया गया है. पहले इन जमातियों को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया और फिर जेल भेजा गया. इन सभी को वीजा और पासपोर्ट नियमों का उल्लंघन करने का दोषी पाया गया था. ये सभी जमाती इंडोनेशिया और थाईलैंड के हैं.

सरकारी प्रवक्ता के अनुसार, पुलिस ने ताज और कुरैश मस्जिदों से 17 विदेशी नागरिकों सहित 21 जामातियों को गिरफ्तार किया था और इन सभी को 31 मार्च को क्वारंटाइन में रखा गया था. बाद में जांच के लिए उनके नमूने भेजे गए, जो कि निगेटिव आए थे. उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता के तहत धारा 269, 270, 271, 188 सहित महामारी रोग अधिनियम (1897) 03 और पासपोर्ट अधिनियम (1967) की धारा 12 (3) के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी.

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry of India) की तरफ से रविवार को जारी आंकड़े के मुताबिक, बीते 24 घंटों में देश में कोरोना वायरस के 909 मरीज सामने आए. जिसके बाद भारत में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8,356 पहुंच गई है. वहीं बीते 24 घंटों में कोरोना से 34 लोगों की जान गई, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 273 पहुंच गई है. हालांकि, राहत वाली बात यह है कि देश 8,356 में से 716 मरीज इस महामारी से बाहर आ चुके हैं.