वाराणसी : झारखंड-बिहार पैदल जा रहे लोगों को ट्रक से भिजवाया
इस ख़बर को शेयर करें

वाराणसी. तमाम सख्ती के बावजूद लोग लॉकडाउन मानने को तैयार नहीं है। शनिवार रात को बस संचालन की अफवाह के बाद हजारो लोग रोडवेज बस स्टैंड पर उमड़ पड़े। पुलिस ने लोगों को अलग-अलग जगहों पर शिफ्ट सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया। पुलिस निजी वाहनों का इंतजाम कर लोगों को उनके मंजिल तक भेज रही है। वहीं रविवार को पूर्वांचल की सबसे बड़ी किराना मंडी विशेश्वरगंज में पुलिस ने आम लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दिया। शिवपुर के एक युवक में कोरोना पॉजिटिव आने के बाद गांव को सील कर दिया गया है। परिवार वालो का सैंपल लेकर बीएचयू जांच के लिए भेजा गया है।

झारखंड-बिहार पैदल जा रहे लोगों को ट्रक से भिजवाया

कोरोना महामारी के बीच मजदूरों का पलायन जारी है। राजघाट पुल पर शनिवार रात पैदल ही झारखंड जाते हुए लोग मिले। समाज सेवी अमन ने इन लोगों को खाने पीने की चीज मुहैय्या कराई। ये समूह बुधवार को पैदल दिल्ली से निकला था। वहां स्थानीय लोग इन लोगो का साथ नहीं दे रहे थे। इनके मन में भी यही था कि यहां कुछ हो जाएगा तो परिवार से मिल भी नहीं पाएंगे। इसी तरह रोहनिया-मोहनसराय चौराहा स्थित हाईवे पर रविवार सुबह 9 बजे बिहार जा रहे पैदल मजदूरों को रोहनिया पुलिस द्वारा ट्रकों को रोक कर बिहार के लिए रवाना कराया गया।

गैस सिलेंडर की डिलीवरी में दिक्कत
रविवार सुबह हनुमान गैस एजेंसी, बेलवा बाबा पर गैस सिलेंडर के लिए करीब दो ढाई सौ लोग एकत्रित हो गए थे। उपभोक्ताओं की शिकायत है कि एजेंसी द्वारा 20-22 दिनों की बुकिंग के बावजूद भी होम डिलीवरी नहीं दी जा रही है और उनके मोबाइल पर सिलेंडर डिलीवर्ड का मैसेज आ जा रहा है। चौकी लालपुर पर नियुक्त उप निरीक्षक अजय प्रताप यादव व अन्य कर्मचारीगण के द्वारा आक्रोशित उपभोक्ताओं को किसी तरह समझा-बुझाकर वापस किया गया।

डीएम बोले- विदेश से आने वालों की सूचना दें, वरना होगी छह माह की जेल

डीएम कौशल राज ने बताया कि वाराणसी जनपद में अब तक 2 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। ये दोनों यूएई से आए थे और खुद टेस्टिंग कराने अस्पताल पहुंचे थे।उन्होंने कहा- विदेश यात्रा से जो लोग वाराणसी में 10 मार्च के बाद आए हैं य 10 मार्च के बाद भारत के बाहर किसी भी देश का विजिट किया है तो आने वाले 3 दिन 29, 30 और 31 मार्च तक दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में उपस्थित होकर अपनी स्क्रीनिंग कराएं।इस आदेश का पालन न करने पर धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी। 6 महीने जेल तक हो सकती है। दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल का कन्ट्रोल रूम नंबर 0542-2508077 है।