जल्लीकट्ट पर जल्द क़ानून बनाने की तैयारी

चेन्नई में जल्लीकट्ट पर विरोध प्रदर्शनों के बीच तमिलनाडु विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया, राज्यपाल ने विधानसभा में अध्यादेश के स्थान पर विधेयक तुरंत पेश करने को कहा। सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक जल्लीकट्ट के आयोजन एवं पीसीए कानून में संशोधन करने के लिए अध्यादेश की जगह एक विधेयक सदन में पेश कर सकती है। विधानसभा सत्र पिछले साल पांच दिसंबर को मुख्यमंत्री जे. जयललिता के निधन के बाद पहली बार हो रहा है।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने तमिलनाडु के लोगों से अपील की है कि वे जल्लीकट्ट पर अपना विरोध प्रदर्शन रोक दें क्योंकि सरकार इस पर अध्यादेश जारी कर चुकी है। वेंकैया नायडू ने वर्तमान स्थिति के लिए यूपीए सरकार को दोषी ठहराया है।

सोमवार सुबह पुलिस ने मरीन बीच पर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों को हटाने का प्रयास भी किया, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि सरकार अब जल्लीकट्ट पर अध्यादेश ला रही है इसलिए प्रदर्शन करने का कोई औचित्य नहीं है।