चुनावी सभा के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद को बताया “काला कौवा”
इस ख़बर को शेयर करें

भोपाल। विधानसभा उपचुनाव की जुबानी जंग में अब काले कौवे की एंट्री हुई है| बीजेपी नेता व राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने खुद को काला कौवा (Black Crow) बताया है| मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में आयोजित एक चुनावी सभा के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद को काला कौवा बताया है। हालांकि उन्होंने अपने आप को वह वाला काला कौवा बताया जो झूठ बोलने वालों को काट लेता है परंतु यदि वन्य प्राणियों की विशेषता के बारे में बात करें तो काले कौए को बहुत उद्दंड, धूर्त तथा चालाक पक्षी माना जाता है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के वायरल वीडियो में क्या दिखाई दे रहा है

ज्योतिरादित्य सिंधिया का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में ज्योतिरादित्य सिंधिया एक बॉलीवुड फिल्मी गाने की 2 पंक्तियों का उपयोग कर रहे हैं।
ज्योतिरादित्य सिंधिया: झूठ बोले
मंच के सामने मौजूद जनता: कौवा काटे
ज्योतिरादित्य सिंधिया: झूठ बोले
मंच के सामने मौजूद जनता: कौवा काटे
ज्योतिरादित्य सिंधिया: काले कौवे से डरियो, मैं काला कौवा हूं।

गौरतलब है कि उपचुनाव को लेकर सिंधिया लगातार ग्वालियर चम्बल क्षेत्र में सभाएं कर रहे हैं| इस उपचुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया की साख भी दांव पर है| प्रत्याशियों की जीत के सिंधिया एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं और अपने भाषणों से कांग्रेस और कमलनाथ पर हमले बोल रहे हैं| इसी क्रम में उन्होंने रविवार को शिवपुरी जिले के करैरा और पोहरी में भाजपा के मंडल स्तर के सम्मेलनों को संबोधित किया। सिंधिया ने कहा कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री भले ही कमलनाथ थे, लेकिन सरकार का नियंत्रण दिग्विजय सिंह के पास था और परदे के पीछे से वे ही सरकार चला रहे थे। उस समय हालत यह थी कि कमलनाथ भोपाल स्थित राज्य मंत्रालय वल्लभ भवन से बाहर नहीं निकलते थे। सिंधिया ने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार में उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया जाता था। उन्होंने विकास कार्यों के लिए सड़क पर उतरने का कहा, तो भी नहीं सुना गया। इसके बाद सरकार सड़क पर आ गयी।