मध्यप्रदेश में किसानों के हित को लेकर सियासत : कमलनाथ का शिवराज पर अनोखा आरोप कहा है कि वो रोज तीन झूठ बोलते हैं

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर अनोखा आरोप लगाया है. उन्हों ने उन्हें झूठा बताया है और कहा है कि मैंने सोचा था कि 15 साल झूठ बोलने के बाद शिवराज जी ने सबक ले लिया होगा, जब 2018 चुनाव में प्रदेश की जनता ने उन्हें घर बैठाया परन्तु वे बाज नहीं आने वाले….. रोज़ 3 झूठ बोलते हैं। हमने संबल योजना में फर्जी लोगों को हटाया था .

कमलनाथ ने कहा कि ये करेंगे 2 हजार लोगों का फायदा और कहेंगे की हमने 20 लाख लोगों का फायदा कर दिया. ये झूठ की राजनीति बहुत हो गई. आने वाले उपचुनाव में मध्य प्रदेश की जनता सच्चाई का साथ देगी, मतदाता बहुत समझदार हैं.

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने मंगलवार को कहा था कि विधानसभा में मध्य प्रदेश सरकार ने स्वीकार किया है कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली पिछली सरकार की कृषि ऋण माफी योजना से 26.95 लाख किसानों को लाभ हुआ है. कमलनाथ ने कहा कि इसी बात से सत्तारुढ़ भाजपा द्वारा फैलाए जा रहे ‘झूठ’ का पर्दाफ़ाश हुआ है.

उनके इस बयान पर सफाई देते हुए प्रदेश के शहरी विकास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा था कि अधिकारियों ने इस संबंध में प्रदेश विधानसभा को गलत जानकारी दी है, जांच के बाद इसकी सही जानकारी दी जाएगी.

सिंह ने पिछली कांग्रेस सरकार पर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना से जुड़े आंकड़े केन्द्र को नहीं देने का भी आरोप लगाया है. इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा किसानों के खाते में तीन समान किस्तों में छह हजार रुपये डाले जाते हैं. उन्होंने कहा कि अब राज्य सरकार द्वारा किसानों की जानकारी केन्द्र सरकार को भेजी जा रही है ताकि सभी पात्र किसानों को इसका लाभ मिल सके.