कमलनाथ ने खत के जरिए छेड़ा सियासी संग्राम कहा हनुमान जी भाजपा नेताओं को गरिमा और चरित्र प्रदान करें

इस ख़बर को शेयर करें:

भोपाल मध्यप्रदेश में जारी सियासी घटनाक्रम अब आरोप-प्रत्यारोप का रूप ले लिया है। कांग्रेस-भाजपा ने खुला पत्र लिखकर राजनीतिक सरगर्मी तेज कर दी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक खुले पत्र में भगवान हनुमान से प्रार्थना की है कि ‘वह भाजपा नेताओं को गरिमा और चरित्र प्रदान करें’। वहीं, दूसरी ओर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने भी कमलनाथ को खुला पत्र लिखकर कहा कि ‘प्रदेश में आई राजनीतिक अस्थिरता के कारण आपके भीतर उपजी घबराहट को हम समझ सकते हैं, लेकिन इसका कारण स्वयं आप और आपके सिपहसालार हैं, भारतीय जनता पार्टी नहीं’।

प्रदेश की जनता को लिखे खुले पत्र में कमलनाथ ने कहा, मैं भाजपा नेताओं से अनुरोध करता हूं कि वे इस तरह का प्रदर्शन न करें कि लोगों का प्रजातंत्र पर से भरोसा ही उठ जाए। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश भाजपा नेताओं ने न सिर्फ राज्य सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की है, बल्कि उन्होंने प्रदेश के विकास पर सीधा आक्रमण किया है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने अपने पत्र में आरोप लगाया कि रेत और शराब माफिया प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर हावी है। उन्होंने कमलनाथ से सवाल कर 1984 के सिख विरोधी दंगों में उनकी भूमिका को स्पष्ट करने के लिए कहा। इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री पर अपने राजनीतिक विरोधियों को परेशान करने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया।

लापता विधायक सुरेंद्र लौटे, कमलनाथ को दिया समर्थन
मध्यप्रदेश के लापता हुए चार विधायकों में से एक निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा प्रदेश की कांग्रेस सरकार का समर्थन करते हुए शनिवार को भोपाल वापस लौट आए। इसके साथ ही उन्होंने अपना अपहरण होने की अटकलों से भी इनकार किया है। कांग्रेस के तीन विधायक अब भी लापता बताए जा रहे हैं। मध्यप्रदेश के बुरहानपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा शुक्रवार रात बंगलुरु से दिल्ली फिर शनिवार दोपहर को दिल्ली से भोपाल लौट आए। उनके साथ उनका परिवार भी था। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को गिराने के लिए भाजपा ने कांग्रेस के तीन और एक निर्दलीय विधायक को बंगलुरु में रखा है। निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा इन चार लापता विधायकों में शामिल बताए गए थे।

भाजपा ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा
भाजपा ने प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन को ज्ञापन सौंपा तथा प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर भाजपा विधायकों और नेताओं के खिलाफ राजनीतिक बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया है। मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के नेतृत्व में भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार शाम को यहां राजभवन में राज्यपाल से मिला और उन्हें प्रदेश सरकार के खिलाफ ज्ञापन सौंपा।  ज्ञापन में भाजपा ने कांग्रेस पर विपक्ष के विधायकों को परेशान करने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है।

भाजपा विधायक के रिसॉर्ट पर चली जेसीबी
मध्य प्रदेश में बीते पांच दिनों से चल रहे सियासी घमासान के बीच अब भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री संजय पाठक के रिसॉर्ट के एक हिस्से और खेत पर शनिवार को जेसीबी चलाई गई है। भाजपा इसे बदले की कार्रवाई बता रही है तो सरकार का कहना है कि किसी ने जमीन कब्जा किया है तो उस पर कार्रवाई होगी ही। भाजपा के पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, वर्तमान की सरकार विरोध करने वालों को कुचलने में लगी है, बदले की कार्रवाई कर रही है। हम इस कुचलने वाली मानसिकता को ही कुचल देंगे।