कान्हा नेशनल पार्क से 4 शिकारियों को किया गिरफ्तार

जबलपुर@ कान्हा नेशनल पार्क में शिकारियों को वन विभाग की टीम ने छापामार कर धरदबोचा। चारों आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद तेंदुए के अंग अवशेषों को जब्त कर कार्रवाई की गई। सूत्रों की मानें तो पकडे गए आरोपियों ने पूछताछ में टीम को बताया कि उन्होंने तेंदुए का शिकार तंत्र विद्या में उसके अंगों का प्रयोग करने के लिए किया था। वहीं खाल को सौदा कर महंगे दामों में बेचने के लिए ग्राहक को तलाश रहे थे।बताया जा है कि टाइगर रिजर्व के अंतर्गत सिझौरा रेंज की सरही बीट से लगे ग्राम कटंगा में शिकारियों द्वारा तेंदुए का शिकार और उसकी खाल की तस्करी की सूचना मिलने पर वन विभाग ने आरोपियों को पकडने का प्लान तैयार किया। इसके लिए वन विभाग की तीन अलग-अलग टीमों को सर्चिंग में लगाया गया। वहीं इनमें से एक टीम ने कटंगा तिराहे पर बाइक सवार दो संदिग्ध को पकड़ा। तलाशी के दौरान आरोपियों के पास से तेंदुआ का एक नग नाखून, पेपर में लपेटे हुए बाल के गुच्छे, एक नग चमड़ा मिला। बिना नम्बर प्लेट की बाइक व तेंदुए के अवशेषों की तत्काल जब्ती बनाकर इस कार्रवाई की सूचना विभाग के आला अधिकारियों को दी गई।

वन विभाग की पूछताछ में आरोपियों ने अपना नाम पुरषोत्तम पिता सुकलाल, जाति गोंड, उम्र 42, ग्राम सरसा, पो.-कठोतिया, थाना मेंहदवानी, जिला डिंडौरी। महादेव पिता समारी, जाति गोंड, उम्र 63, ग्राम लोधा, पो.-सहजर, थाना घुघरी, जिला मंडला। परसू पिता सुकलाल, जाति गोंड, उम्र 45, ग्राम सरसा, पो.-कठोतिया, थाना मेंहदवानी, जिला डिंडौरी। गनीराम पिता सुकली, जाति गोंड, उम्र 40, ग्राम सरसा, पो.-कठोतिया, थाना मेंहदवानी, जिला डिंडौरी बताया है।