संक्रमित शख्स का इलाज करने वाले केजीएमयू के जूनियर डॉक्टर का टेस्ट पॉजिटिव, लखनऊ में अब 3 हुए रोगी

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। बुधवार को एक और व्यक्ति में संक्रमण पाया गया। संक्रमित शख्स किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) का जूनियर डॉक्टर है। जूनियर डॉक्टर को केजीएमयू में ही आइसोलेट किया गया है। लखनऊ में अब कोरोनावायरस पीड़ितों की संख्या तीन पहुंच चुकी है। जबकि उत्तर प्रदेश में अब तक 16 के टेस्ट पॉजिटिव आ चुके हैं। हालांकि, इस दौरान पांच मरीज इलाज के बाद ठीक हुए हैं।

टोरंटो से लखनऊ लौटी एक महिला डॉक्टर में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई थी। इस महिला डॉक्टर के संपर्क में आने से एक अन्य का भी टेस्ट पॉजिटिव पाया गया था। दोनों का इलाज केजीएमयू में चल रहा है। मेडिसिन विभाग में तैनात जूनियर डॉक्टर केजीएमयू में भर्ती संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाली टीम में शामिल था।

जिसकी सेहत बिगड़ने पर जांच की गई तो टेस्ट पॉजिटिव आया। इसके बाद केजीएमयू प्रशासन ने डॉक्टर को आइसोलेट कर इलाज शुरू कर दिया है। साथ ही अन्य को भी ऐहतियात बरतने की सलाह दी गई है। एमबीबीएस के छात्रों को मास्क लगाने, सैनिटाइजर का प्रयोग करने व साफ सफाई रखने की सलाह दी गई है।

केजीएमयू आइसोलेश वार्ड के इंचार्ज डॉक्टर सुधीर सिंह ने बताया कि, एक जूनियर डॉक्टर में कोरोनवायरस का टेस्ट पॉजिटिव आया है। डॉक्टर कोरोनोवायरस रोगियों का इलाज कर रहा था। डॉक्टर स्थिर है और चिंता की कोई बात नहीं है।