किराना दुकान संचालक के अपहरणकर्ता को 12 घंटे के अंदर 2 आरोपी पुलिस ने धार दबोचा 1 फरार

जबलपुर। थाना माढ़ोताल में रात्रि लगभग 10 बजे संजू बर्मन उम्र 35 वर्ष निवासी शंकर नगर खेरमाई मंदिर के पीछे माढ़ोताल ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसका साला जितेन्द्र बर्मन उम्र लगभग 25 वर्ष उसके साथ रहता है एवं शंकर नगर में देवीदास विश्वकर्मा के मकान मे किराये से किराना दुकान चलाता है, दिनांक 10-08-2020 की  सुवह 11 बजे अपनी पत्नी अनीता बर्मन के साथ काम पर चला गया था घर पर उसका बेटा सागर बर्मन एवं दुकान में उसका साला जितेन्द्र बर्मन थे शाम लगभग 5-15 बजे उसे उसके बेटे सागर ने फोन पर बताया कि फूफा अजय बर्मन अपने साथी के साथ बैगनार कार क्रमांक एमपी 20 सीई 2874 से शाम लगभग 5 बजे आये और जितेन्द्र बर्मन से किसी बात को लेकर लड़ाई झगड़ा करने लगे तथा फूफा अजय बर्मन एव फूफा के साथी ने जितेन्द्र बर्मन को अपनी बैगनार कार में जबरदस्ती बैठा लिया और जितेन्द्र बर्मन को जबरदस्ती अपने साथ ले गये हैं जानकारी मिलने पर तुरंत अपनी पत्नी के साथ घर आया देखा उसका साला जितेन्द्र बर्मन घर पर नहीं था , उसने देवीदास विश्वकर्मा की बेटी से पूछा जिसने भी बताया कि जितेन्द्र बर्मन को बैगनार कार मंे 2 लोग जबरदस्ती ले गये हैं, उसके साले जितेन्द्र बर्मन को उसकी मौसी के दामाद अजय बर्मन एवं अजय बर्मन का साथी डरा धमकाकर जबरदस्ती बैेगनार कार में बैठाकर ले गये हैं, रिपोर्ट पर धारा 365, 34  भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

दौरान तलाश पतासाजी के थाना माढेाताल अन्तर्गत ग्राम सूखा में एक कार अंधेरे मे संदिग्ध अवस्था मे खड़ी मिली, कार की घेराबंदी करते हुये कार को चैक किया गया तो कार में अपहृत जितेन्द्र बर्मन एवं अन्य 3 लोग बैठे हुये दिखे जिनमे से एक व्यक्ति अंधेरे का फायदा उठाकर भागने मे सफल हो गया, नाम पता पूछने पर दोनों  ने अपने राजा उर्फ अनुराग बर्मन पिता रज्जन बर्मन उम्र 19 वर्ष एवं संदीप चैरसिया पिता राकेश चैरसिया उम्र 27 वर्ष दोनों निवासी बुढागर गोसलपुर बताये तथा भागने वाले का नाम अजय कुमार बर्मन बताया, सभी को मय वैगनार कार के थाना माढेाताल लाया गया।

पूछताछ पर जितेन्द्र बर्मन ने बताया कि डरा धमकाकर कार में जबरदस्ती बैठाकर अलग अलग जगहों में घुमाते रहे तथा मारपीट भी किये है। जितेन्द्र बर्मन को परिजनो के सुपुर्द कर राजा उर्फ अनुराग बर्मन एवं संदीप चैरसिया को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा मे जेल भेज दिया गया।  फरार अजय बर्मन की तलाश जारी है।  
घटना का कारण- पूछताछ पर पाया गया कि अजय बर्मन को शक था कि जितेंद्र बर्मन उसके परिवार की एक महिला से मोबाइल पर बात करता है  जिस कारण अजय बर्मन, जितेन्द्र बर्मन से रंजिश रखता था, सबक सिखाने के लिये  अजय बर्मन ने अपने साथियों के साथ मिलकर जितेन्द्र बर्मन का अपहरण किया था।

घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा आरोपियों की तलाश पतासाजी कर गिरफ्तारी एवं अपहृत जितेन्द्र बर्मन की दस्तयाबी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण डाॅ. संजीव उइके के मार्ग निर्देन में थाना प्रभारी माढोताल श्रीमति रीना पाण्डे शर्मा के नेतृत्व मे 4 टीमें गठित कर, आरोपियेां एवं अपहृत की तलाश पतासाजी हेतु रवाना की गयी,  ।

उल्लेखनीय भूमिका– त्वरित कार्यवाही करते हुये अपहृत की दस्तयाबी एवं दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी माढोताल श्रीमति रीना पाण्डे शर्मा, उप निवासी जे.एन. गेडाम, सहायक उप निरीक्षक उमलेश तिवारी, मनोज चैधरी, आर.पी. अहिरवार   आरक्षक प्रेम, दिनेश एवं शशिप्रकाश आदि की सराहनीय भूमिका रही।