युवक की हत्या कर फूंक दी लाश

दारागंज में रितेश उर्फ रिक्की नामक युवक की नृशंस हत्या कर लाश तेल छिड़क फूंक दी गई। बुधवार की सुबह रितेश का जला हुआ शव निर्माणाधीन प्रयागघाट टर्मिनल पर पाया गया। शिनाख्त के बाद परिवार में कोहराम मच गया। रितेश मंगलवार की शाम से लापता था। उसे धारदार हथियार और सरिया से मारा गया। दाहिनी आंख भी फोड़ दी गई थी। घरवालों ने अज्ञात में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस प्रेम प्रपंच, आशनाई को लेकर जांच कर रही है। परिवार की एक युवती ने रितेश की बहन के देवर पर शक जताया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।
दारागंज थाना क्षेत्र के कच्ची सड़क फुलवरिया रोड के रहने वाले स्व. बब्बन के तीन बेटों में रिक्की उर्फ रितेश छोटा था। दो अन्य भाई रत्‍‌नेश व बच्चा की काफी पहले मौत हो चुकी है। रितेश की मां शकुंतला जल संस्थान में सफाई कर्मी है। मंगलवार की शाम रितेश मोबाइल पर किसी ने कॉल की। इसके बाद वह बाइक लेकर घर से चला गया। रात में वह नहीं लौटा तो मां ने मोबाइल मिलाया तो तो बंद जा रहा था। मां ने बेटे की खोजबीन शुरू की लेकिन कुछ पता नहीं चला। बुधवार की सुबह प्रयागघाट स्टेशन के पास बाउंड्री पर उसकी लाश पाई गई। हत्या के बाद लाश जला दी गई थी। खबर पाकर फोर्स के साथ फोरेंसिक टीम जांच को पहुंची। धारदार हथियार से रितेश की हत्या कर शव जलाया गया था। रितेश की बाइक वहीं खड़ी मिली जबकि मोबाइल जला हुआ बरामद हुआ है। मुकदमा अज्ञात में दर्ज हुआ है लेकिन घरवालों का आरोप है कि रितेश की बहन रचना ने मोहल्ले में रहने वाले संजय से प्रेम विवाह किया है। शादी के बाद संजय के परिवार वालों ने उसे घर से बेदखल कर दिया। कोर्ट में मामला चल रहा था जिसकी पैरवी रिक्की करता था। इस बात को लेकर संजय के परिवार वालों से कई बार कहासुनी भी हुई थी। पुलिस रचना के देवर से पूछताछ कर रही है। सीओ दारागंज शिवराज के मुताबिक, रचना के देवर से रितेश का झगड़ा था। रितेश के मोबाइल की काल डिटेल निकलवाई जा रही है। जहां रितेश की लाश मिली रचना का ससुराल उसे 50 कदम दूर है। ससुराल वालों से पूछताछ की जा रही है।