सात माह की बच्ची की हत्या के आरोपियो को थाना गुनगा पुलिस ने 8 घंटे के अंदर किया गिरफ्तार

भोपाल : फरियादी मनीष पिता जगन्नाथ जाट उम्र 25 साल नि. ग्राम रतुआ ने बताया कि दि. 06.07.20 सुबह घर पर था कि बागड तोडने की बात को लेकर मेरी पत्नी संतोषी का विवाद पडोस मे रहने वाले मुकेश यादव, समंदर यादव एवं शिवनारायण कुशवाह नि. रतुआ से हो गया जिससे उक्त तीनो व्यक्ति ने हाथ व डंडो से मारपीट किया। जिसमे फरियादी की गोद में बैठी बच्ची मिस्टी को सिर में डंडा लगने से बच्ची मिस्टी के सिर मे चोट आईं और उसके सिर से खून निकलने लगा।

फरियादी द्वारा बच्ची को ईलाज हेतू अस्पताल ले जाने पर डाक्टर द्वारा बच्ची को मिस्टी को मृत बताया गया। उक्त तीनो आरोपी घटना करने के बाद से ही फरार थे। दिनांक 06.07.20 मर्ग क्र 23/20 धारा 174 जाफौ. की जॉच से हमीदिया अस्पताल से देहाती नालसी अप क्र 00/20 धारा 302, 34 भादवि का लेख किया गया। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक भोपाल जोन, भोपाल श्री उपेन्द्र जैन एवं पुलिस उप महानिरीक्षक भोपाल शहर श्री इरशाद वली के उक्त निर्देशो के पालन मे पुलिस अधीक्षक उत्तर क्षेत्र श्री मुकेश कुमार श्रीवास्तव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जोन.4 दिनेश कुमार कौशल के मार्गदर्शन में एसडीओपी बैरसिया संभाग सुश्री माणकमणि कुमावत के नेतृत्व में थाना गुनगा के 07 माह की बच्ची के हत्यारों को गिरफतार करने के लिये एक टीम गठित की गई थी। 

थाना प्रभारी गुनगा के नेतृत्व में उक्त तीनो आरोपीयो को सागौनी, कोटराचौपडा के जंगलो से घटना के अंजाम देने के उपरांत त्वरित कार्यवाही करते हूए गिरफतार किया गया है। जिन्हे आज दिनांक को माननीय न्यायालय पेश किया गया है।

सराहनीय भूमिकाः-

परि.उप.पु.अधीक्षक सोनम झरवडे थाना प्रभारी, उनि. सुनील सिंह भदौरिया, प्रआर 2333 राजवीर सिंह, प्रआर 498 प्रमोद जोषी,प्र.आर.452 राजेष दण्डोतिया आर.1034 धर्मेन्द्र रघुवंषी एवं आर. 2963 लोकेष डहेरिया,आर.437 मानवेन्द्र,आर.2369 भूपेन्द्र ,आर.299 राजेन्द्र की धरपकड में महत्वपूर्ण भूमिका रही ।