Skip to content

देश में मार्च से शुरू होगा 12 से 14 साल के बच्चों का कोविड वैक्सीनेशन

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:


15 से 18 साल के बच्चों के बाद अब केंद्र सरकार 12 से 14 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू करने की तैयारी कर रही है। इस आयु वर्ग के बच्चों को मार्च से कोविड वैक्सीन लगाई जाएगी। वैक्सीनेशन पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (NTAGI) के चेयरमैन डॉ एनके अरोड़ा ने इंडिया टुडे को यह जानकारी दी है। इन बच्चों पर भी भारतीय बायोटेक की ‘कोवैक्सिन’ वैक्सीन का इस्तेमाल हो सकता है।

3 जनवरी से हो रहा है 15 से 18 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन
बता दें कि देश में 3 जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। सभी राज्यों में इस आयु वर्ग के 3.57 करोड़ से अधिक बच्चों को वैक्सीन की खुराक लग चुकी है। देशभर के अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर बच्चों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। इसके अलावा कई स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों का भी वैक्सीनेशन केंद्र के तौर पर इस्तेमाल हो रहा है।

फिलहाल केवल कोवैक्सिन का हो रहा बच्चों पर इस्तेमाल
बच्चों के वैक्सीनेशन के लिए फिलहाल स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सिन का इस्तेमाल किया जाएगा। इसे दिसंबर में ही 12 से 18 साल के बच्चों पर इस्तेमाल की मंजूरी मिली थी। इसका मतलब 12 से 14 साल के बच्चों पर भी इसका इस्तेमाल होगा। बच्चों पर इस्तेमाल के लिए जायडस कैडिला की DNA वैक्सीन को भी मंजूरी मिल चुकी है, लेकिन फिलहाल इसे उपयोग में नहीं लिया जा रहा। यह बच्चों पर इस्तेमाल की मंजूरी पाने वाली देश की पहली वैक्सीन है।

कुछ विशेषज्ञों ने उठाए हैं बच्चों के वैक्सीनेशन पर सवाल
देश के ज्यादातर डॉक्टर्स और विशेषज्ञों ने बच्चों के वैक्सीनेशन के सरकार के फैसले का स्वागत किया है, हालांकि कुछ विशेषज्ञों ने इस पर सवाल भी खड़े किए हैं।
इसी सूची में आने वाले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के वरिष्ठ महामारी विशेषज्ञ डॉ संजय राय ने बच्चों के वैक्सीनेशन के फैसले को अवैज्ञानिक बताया है। उनका कहना है कि वैक्सीन का मकसद मौतों को रोकना है और बच्चों में पहले से ही बहुत कम मौतें हो रही हैं।

देश में वैक्सीनेशन अभियान की क्या स्थिति?
देश में अब तक वैक्सीन की लगभग 158 खुराकें लगाई जा चुकी हैं। 91.40 करोड़ लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक खुराक लग चुकी है, वहीं 66.05 करोड़ लोगों को दोनों खुराकें लग चुकी हैं। 92 प्रतिशत से अधिक वयस्क आबादी एक खुराक लगवा चुकी है, वहीं 70 प्रतिशत वयस्क आबादी को कोविड वैक्सीन की दोनों खुराकें लग चुकी हैं। बीते दिन देश में 39,46,348 खुराकें लगाई गईं।