साहित्य से ही सबको दिशा मिलती है

प्रयागराज : साहित्य सृजन में बेल्हा सदैव तत्पर रहा है। इसी जिले के वरिष्ठ साहित्यकार भानु प्रताप त्रिपाठी मराल ने भी ¨हदी साहित्य को समृद्ध किया है। यह बातें कविकुल द्वारा शहर के सिविल लाइन में साहित्य में मराल का योगदान विषयक काव्य व संस्कार गोष्ठी में वक्ताओं ने कही। मुख्य अतिथि पूर्व विधायक हरि प्रताप ¨सह ने कहा साहित्य से ही सबको दिशा मिलती है। कोई भी समाज इसके बिना अधूरा होता है। मराल जी ने हमेशा राष्ट्रप्रेम से ओतप्रोत रचनाएं लिखीं। अगुआ बियाह कै भए भाय.. जैसी रचनाओं से कुरीतियों पर प्रहार किया। अध्यक्षता स्वतंत्र कवि मंडल के अध्यक्ष अर्जुन ¨सह व संचालन प्रमोद प्रियदर्शी ने किया। मुख्य वक्ता श्याम नारायण मिश्र श्याम व विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ पत्रकार डा. आरके विद्यार्थी रहे। स्वागत कविकुल अध्यक्ष परशुराम उपाध्याय सुमन व संयोजन प्रेम कुमार प्रेम ने किया। काव्य पाठ व विचार व्यक्त करने वालों में धर्मोपदेशक ओम प्रकाश पांडेय अनिरुद्ध रामानुजदास, वकील परिषद के पूर्व अध्यक्ष राधेकृष्ण त्रिपाठी, सत्यदेव ¨सह, अनूप कुमार पांडेय, राम सहाय ¨सह कुंज, सुरेश द्विवेदी व्योम, शेष नारायण राही, डॉ. हरिहर प्रसाद जनप्रिय, अनूप अनुपम, सुनील प्रभाकर, डॉ. श्याम शंकर शुक्ल श्याम, जयराम राही आदि रहे। आभार नवनीत कुमार त्रिपाठी ने व्यक्त किया। अयोध्या कूच की मंच ने बनाई रणनीति : ¨हदू जागरण मंच की बैठक रविवार को नगर में हुई। इसमें 25 नवंबर को अयोध्या कूच करने की रणनीति तय की गई। मुख्य अतिथि कांशी प्रांत अध्यक्ष दिनेश नारायण ¨सह ने कहा कि ¨हदू समाज में व्याप्त कुरीतियों और अंधविश्वासों को दूर करने के लिए काम करना होगा। देश के हित में कार्य करने की प्रेरणा समाज को देनी होगी। 25 नवंबर को भारी संख्या में लोगों को अयोध्या चलने के लिए तैयार करें। बैठक की अध्यक्षता रघुवीर प्रसाद उपाध्याय ने की। इस मौके पर मंच की जिला कार्यकारिणी का चयन किया गया। इसमें राजेश त्रिपाठी को अध्यक्ष चुना गया। इनके साथ ही रमेश प्रताप ¨सह व रमेश पांडेय उपाध्यक्ष बने। अर¨वद ¨सह महामंत्री, शेष नारायण तिवारी कोषाध्यक्ष, कुलदीप पांडेय युवा वाहिनी प्रमुख, कृष्ण प्रताप ¨सह प्रांत संरक्षक बनाए गए। संचालन अशोक कुमार सरोज ने किया। [ रिपोर्ट संजय गुप्ता प्रयागराज]