लॉकडाउन में बढ़ सकती है और सख्ती, ग्रामीण क्षेत्र में बाहर से आये 11 सौ लोग निगरानी में

इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर लॉकडाउन का पालन कराने पर धीरे-धीरे और सख्ती बढ़ेगी । यह जानकारी देते हुए अपर कलेक्टर विकास एवं जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा ने बताया कि लॉकडाउन के तहत बरती जा रही कड़ाई के जिले में सार्थक परिणाम मिल रहे हैं । आज आईसीएमआर लैब से मिली पांचों रिपोर्ट भी निगेटिव आई है । लगातार मिल रहे अच्छे परिणाम के बावजूद लॉकडाउन में किसी भी रूप में ढ़िलाई नहीं बरती जायेगी । वो इसलिए कि यदि एक भी पॉजिटिव केस सामने आता है तो हमारी चिंताएं बढ़ जायेंगी ।

जिला पंचायत के सीईओ ने बताया कि शासन के निर्देश पर राजस्थान के भीलवाड़ा से जिले में आये दो लोगों को चिन्हित किया गया है जो वहां मजदूरी करने गये थे । दोनों को होम क्वारेंटाइन में रखा गया है । उनका स्वास्थ्य अभी बिल्कुल ठीक है । उनमें कोई सिम्टम्स भी नहीं है । उनकी कड़ी निगरानी की जा रही है । उन्होंने बताया कि ग्यारह सौ ऐसे लोगों को भी चिन्हित किया गया है जो जिले में बाहर से वापस आये हैं ।

ऐसे लोगों को होम क्वारेंटाइन में रखा गया है तथा उन पर स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास, वन विभाग एवं अन्य विभागों के मैदानी अमले द्वारा नजर रखी जा रही है । इनमें से 8 व्यक्ति साधारण सर्दी, खांसी, बुखार से पीड़ित हैं । उन्हें चिकित्सकों को रेफर किया जा रहा है । यदि चिकित्सक सलाह देंगे तो उनके कोरोना टेस्ट के लिए सेम्पल लिये जायेंगे । फिलहाल उनमें इस तरह के कोई लक्षण नहीं हैं ।

जिला पंचायत के सीईओ ने बताया कि जिले में बाहर से आ रहे ऐसे लोग जिनके पास अनुमति है उनके अभिलेख भी तैयार किये जा रहे हैं । उनसे यह जानकारी ली जा रही है कि वे किस स्थान और किस पते पर रहेंगे ताकि उनकी नियमित ट्रेकिंग की जा सके । उनके स्वास्थ्य की जानकारी भी ली जा रही है । थोड़ा-सा भी आभास होने पर उन्हें इंस्टीटूशनल क्वारेंटाइन में भी डाला जायेगा ।

जिला पंचायत के सीईओ ने बताया कि जिले के बाहर से काम करने आये श्रमिकों को भी शासकीय भवनों में रहने का स्थान दिया गया है । उनके भोजन की व्यवस्था भी की गई है तथा इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का भी सख्ती से पालन किया जा रहा है । श्री मिश्रा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबों और बेसहारा लोगों की भी भोजन की व्यवस्था ग्राम पंचायतों एवं नगरीय निकायों द्वारा की जा रही है ।

उनहोंने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में होम क्वारेंटाइन में रखे गये लोगों को अपने मोबाइल पर सार्थक एप डाउनलोड करने और उसके माध्यम से जिला स्तरीय कंट्रोल रूम से लगातार संपर्क में रहने का अनुरोध किया है । श्री मिश्रा ने लोगों से कोरोना वायरस को रोकने की लड़ाई में पुन: सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया है ताकि जबलपुर को कोरोना मुक्त बनाने के लक्ष्य को हासिल किया जा सके ।