लोकसभा चुनावः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गांधीनगर से भरा नामांकन

इस ख़बर को शेयर करें:

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गुजरात के गांधीनगर से नामांकन पत्र भर दिया है। वहीं समाजवादी पार्टी ने गोरखपुर से रामभुआल निषाद और कानपुर से रामकुमार को उम्मीदवार बनाया है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज आज गांधीनगर लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल कर दिया। नामांकन दाखिल करने से पहले उन्होंने एक रोड शो किया इसमें सड़क के दोनों ओर भारी संख्या में भाजपा समर्थक नजर आये। जिन्होंने रोड शो के दौरान अमित शाह पर फूल बरसा कर उनका स्वागत किया।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव केवल इस मुद्दे पर लड़ा जाएगा कि चुनावों के बाद देश का नेतृत्व कौन करेगा। गांधीनगर लोकसभा सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले यहां एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में लोग ऐसा नेता देखते हैं जिसका वे पिछले 70 वर्षों से इंतजार कर रहे थे। केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी, भाजपा के सहयोगी दल शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे, शिरोमणी अकाली दल सुप्रीमो प्रकाश सिंह बादल और लोजपा संस्थापक राम विलास पासवान शाह के साथ मंच पर मौजूद रहे।

शाह ने कहा, ‘‘देश में अलग-अलग स्थानों पर अपने दौरे के दौरान मैंने पाया कि लोग देश का नेतृत्व करने के लिए केवल मोदी का नाम पुकार रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह चुनाव केवल इस मुद्दे पर लड़ा जाएगा कि कौन देश का नेतृत्व करेगा। मैंने हिमाचल से लेकर कन्याकुमारी और कामरूप से लेकर गांधीनगर तक लोगों से यह सवाल पूछा तो मुझे केवल एक आवाज सुनाई दी – मोदी, मोदी मोदी।’ उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी में लोगों ने ऐसा नेता पाया जिसका वे पिछले 70 वर्षों से इंतजार कर रहे थे।’’

भाजपा प्रमुख ने कहा कि गांधीनगर से नामांकन पत्र भरना उनका ‘‘सौभाग्य’’ है। पूर्व में इस सीट का प्रतिनिधित्व एल के आडवाणी, अटलजी और पुरुषोत्तम गणेश मावलंकर कर चुके हैं। गांधीनगर सीट से शाह का नामांकन पत्र दाखिल करना भाजपा में नयी पीढ़ी के आगे आने का संकेत है। इस सीट पर आडवाणी ने छह बार जीत दर्ज की थी।

भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने अमित शाह के गांधी नगर में नामांकन से पहले कहा कि प्रधानमंत्री समेत पार्टी के किसी भी नेता पर अब तक कोई भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है। उन्होंने आरोप लगाया कि विरोधी दल उन पर झूठे आरोप लगा रहे हैं।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अमित शाह के गांधी नगर में नामांकन से पहले कहा कि शिवसेना और भाजपा के बीच कोई मतभेद नहीं है। प्रदेश भाजपा का मानना है कि शाह के नामांकन से गुजरात में पार्टी में उत्साह बढ़ेगा और उसे राज्य में सभी 26 लोकसभा सीटों पर जीत में मदद मिलेगी।