लोकसभा चुनाव : चौथे चरण का प्रचार थमा, 29 अप्रैल को वोटिंग

इस ख़बर को शेयर करें:

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में उत्तर प्रदेश की 13 सीटों के लिये चुनाव प्रचार शनिवार शाम थम गया। इस चरण में 29 अप्रैल को शाहजहांपुर (अजा), खीरी, हरदोई (अजा), मिश्रिख (अजा), उन्नाव, फर्रूखाबाद, इटावा (अजा), कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर, जालौन (अजा) झांसी तथा हमीरपुर में वोट डाले जाएंगे। इस चरण में समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव की धर्मपत्नी डिंपल यादव, भाजपा के साक्षी महराज और कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल और सलमान खुर्शीद समेत 152 उम्मीदवार की किस्मत का फैसला होगा।

चुनाव आयोग पर गर्मी के प्रंचड तेवरों के बीच मतदान का प्रतिशत बढाने की चुनौती रहेगी वहीं गर्मी की परवाह किये बगैर रात दिन एक कर रहे अलग अलग दलों के पास इस चरण में बढ़त हासिल करना महत्वपूर्ण होगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रचार के अंतिम दिन हरदोई और कन्नौज में चुनावी सभाओं को संबोधित किया जबकि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उन्नाव में रोड शो कर अन्नू टंडन के लिये वोट मांगे।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कन्नौज में पत्नी एवं प्रत्याशी डिंपल यादव के पक्ष में रोड शो किया जो चकोर कोल्ड स्टोरेज से शुरू होकर विधूना रोड पर खत्म हुआ। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने संतकबीरनगर,बस्ती और फतेहपुर में चुनावी जनसभायें की। केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने झांसी,रायबरेली,अमेठी और फैजाबाद में जनसभायें की।

राज्य चुनाव कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार इस चरण में 13 लोकसभा क्षेत्रों में पहली बार मताधिकार का प्रयोग करने वाले युवाओं की संख्या 3,56,005 है जबकि 80 वर्ष से अधिक के 4,54,508 मतदाता हैं। इनमें से एक करोड़ 29 लाख पुरुष, एक करोड़ नौ लाख महिलाएं और 1230 थर्ड जेंडर हैं। इस चरण में 13 लोक सभा क्षेत्रों में कुल 17,011 मतदान केन्द्र तथा 27,513 मतदेय स्थल हैं।

चौथे चरण में फर्रुखाबाद में पूर्व विदेश मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज प्रत्याशी सलमान खुर्शीद की प्रतिष्ठा दांव पर है। उनका मुकाबला भाजपा प्रत्याशी और मौजूदा सांसद मुकेश राजपूत से है वहीं सपा-बसपा गठबंधन ने पूर्व एमएलसी मनोज अग्रवाल को रणक्षेत्र में उतारा है।

कन्नौज की हाई प्रोफाइल सीट पर अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के सामने भाजपा के सुब्रत पाठक की चुनौती है। डिंपल इस सीट से मौजूदा सासंद हैं। भाजपा ने यहां सिर्फ एक बार 1998 में जीत दर्ज की है जबकि सपा लगातार सात चुनाव जीती है। बसपा ने इस सीट से कभी जीत का जायका नहीं चखा।

उन्नाव में भाजपा के निवर्तमान सांसद साक्षी महराज का मुकाबला कांग्रेस की अन्नू टण्डन से है वहीं सपा-बसपा गठबंधन से अरुण शंकर शुक्ला अन्ना महराज तीसरी बार ताल ठोंक रहे हैं। 2014 में जीत हासिल करने वाले साक्षी महराज को जीत दोहराना चुनौती होगी।