लंदन में इंजीनियर का नहीं मिला डेथ सर्टिफिकेट, लाश आने में लगेंगे 2-3 दिन

जबलपुर.लंदन में सड़क हादसे में मृत जबलपुर की बेटी हिमांशी का गुरुवार को डैथ सर्टिफिकेट जारी नहीं हो पाया। इसकी वजह से शव लंदन से भारत के लिए रवाना नहीं हो पाया। हिमांशी के ताऊ और जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने बताया कि शव जबलपुर पहुंचने में दो से तीन दिनों का समय लग सकता है। भारत पहुंचने पर पहले शव टीसीएस को सौंपा जाएगा, इसके बाद परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा।

हिमांशी गुप्ता की बुधवार को सड़क दुर्घटना में लंदन में मौत हो गई थी। 22 वर्षीय हिमांशी टीसीएस में इंजीनियर थी। वह पांच महीने पहले लंदन ट्रेनिंग में गई थी। हादसा लंदन के होउंसलो प्राइमरी स्कूल के पास उस वक्त हुआ, जब हिमांशी अपनी दोस्त के साथ ऑफिस जाने के लिए बस स्टॉप पर खड़ी थी। इसी दौरान एक काले रंग की रेंज रोवर कार कुछ वाहनों को चक्कर मारते हुए बस स्टॉप में घुस गई। कार की चपेट में आने से हिमांशी और उसकी दोस्त गंभीर रूप से घायल हो गई। अस्पताल में हिमांशी ने दम तोड़ दिया।

घर में गमगीन माहौल

लेबर चौक जयनगर स्थित हिमांशी के घर में दिन भर परिजन पहुंचते रहे। हिमांशी की मां प्रीति गुप्ता और पिता अजय गुप्ता का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजन उन्हें दिन भर ढांढस बंधाते रहे। परिजन अब हिमांशी के शव के पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं।