प्यार में पागल जालौन का मेडिकल ऑफिसर ने प्रेमिका को चाकू से गोद-गोदकर मार डाला, कुबूला अपना जुर्म

आगरा के सरोजिनी नायडू मेडिकल कॉलेज की जूनियर डॉ. योगिता गौतम की हत्‍या के आरोप में जालौन के मेडिकल ऑफिसर डॉ विवेक तिवारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। डॉ.विवेक ने कबूल किया है कि उसी ने डॉ.योगिता गौतम की हत्‍या की। इस वारदात को किस निर्ममता से अंजाम दिया इस बारे में भी उसने पुलिस को बताया है।

हिरासत में लिए जाने के बाद डा.विवेक तिवारी ने अपने कबूलनामे में कहा कि उसका योगिता के साथ झगड़ा हुआ था जिसके बाद गुस्से में उसने योगिता की गर्दन दबा दी थी. उसके बाद जब उसे लगा कि योगिता की मौत नहीं हुई है तो गाड़ी में रखे चाकू से उसने तड़पा-तड़पाकर हत्या कर दी और इसके बाद उनकी मौत सुनिश्चत करने के लिए चाकू से सिर पर वार किया। हत्‍या के बाद आरोपी ने डॉ.योगिता का झाड़ियों में फेंक दिया।

बुधवार को डॉ.योगिता का शव आगरा के बमरौली कटरा (डौकी) इलाके से बरामद किया गया था। आगरा के एसएसपी बबलू गुप्‍ता ने इस सनसनीखेज हत्‍याकांड के बारे में बताते हुए बताया कि डॉ.विवेक तिवारी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

डॉ.विवेक तिवारी ने पुलिस को बताया कि मंगलवार को वह योगिता से मिलने के लिए पहुंचा था। वहां दोनों के बीच बहस शुरू हो गई। इसके बाद उसने योगिता की गला दबाकर हत्या कर दी। मौत कन्फर्म करने के लिए कार में रखे चाकू से सिर पर वार भी किया। इसके बाद सुनसान इलाके में झाड़ियों के बीच शव को फेंक दिया।