गुलाल फूलों से महाकाल ने खेली होली, दर्शन करने पहुंचे हजारों श्रद्धालु
उज्जैन । मप्र के जिला उज्जैन के महाकाल मंदिर में देर रात को सबसे पहले होली बडे धूमधाम से मनाई गई। यहां सबसे पहले हाेलिका दहन करके,बाद में महाकाल की आरती की गई। जिसके बाद भगवान महाकाल के मंदिर में भक्तों ने जमकर होली खेली। होली के लिए विशेष तौर पर फूलों और हर्बल गुलाल का इंतजाम किया गया था। इस विशेष मौके पर बाबा महाकाल की शयन आरती देखने के लिए मंदिर में करीब 10 हजार श्रद्धालु पहुंचे जिन्हें देख मंदिर प्रशासन सहित पुलिस भी सकते में आ गई।
बताया जा रहा है कि रात 10:30 बजे अपने राजाधिराज संग होली खेलने के लिए मानों पूरा शहर ही महाकाल के दरबार में पहुंचने गया हो। करीब 10 हजार श्रद्धालुओं के बाद भी जब लोगों का आना लगा रहा तो पुलिस हरकत में आ गई और उन्हें बैरिकेड्स लगाकर आम लोगों को मंदिर में प्रवेश करने से रोकना पड़ा। इस बीच मौके पर किसी अनहोनी की स्थिति से बचने के लिए पुलिस बल पूरे समय तैनात रहा।
महाकाल ने इस बार खास हर्बल गुलाल से होली खेली,जिसे कृषि विज्ञान केंद्र उज्जैन शहडोल की आदिवासी महिलाओं द्वारा पलाश के फूल, नीम, पालक तथा सिंदूर के पौधों से बनाया था।
होली पूजन के बाद भजन संध्या हुई जो देर रात तक चलती रही, जिसमें सैकड़ों भक्त झूमे। इस मौके पर कलेक्टर कवींद्र कियावत और नगर निगम आयुक्त अविनाश लवानिया मुख्य रूप से शामिल हुए और बाबा महाकाल का आशीर्वाद लिया।