महंतों की मांग, राष्ट्रपति को कहा जाए ‘राष्ट्राध्यक्ष’

कानपुर: महंतों ने राष्ट्रपति शब्द पर आपत्ति कड़ी आपत्ति जताई है। महंतों ने मांग की है कि राष्ट्रपति को राष्ट्राध्यक्ष कह कर संबोधित किया जाए। इसी कड़ी में आज महंतों ने प्रेस क्लब में प्रेस कांफ्रेंस की।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान बाल योगी चैतन्य अरुण पुरी जी महाराज ने कहा कि जिस तरह पिछले कई वर्षों से राष्ट्राध्यक्ष को राष्ट्रपति और राष्ट्रपिता के नाम से संबोधित किया जा रहा है वो सही नहीं है। राष्ट्रपति को राष्ट्रध्यक्ष कह कर संबोधित किया जाना चाहिए।