Skip to content

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में किया गिरफ्तार

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:


Nawab Malik Arrested: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मुंबई अंडरवर्ल्ड की गतिविधियों से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में बुधवार को महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) को गिरफ्तार किया। एनसीपी नेता नवाब मलिक से ईडी ने सुबह पूछताछ शुरू की थी. इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तारी के बाद नवाब मलिक ने कहा कि मैं लड़ूंगा, डरूंगा नहीं। नवाब मलिक की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर उनकी एक तस्वीर शेयर की गई है. वे पुष्पा फिल्म के अंदाज में कह रहे हैं कि- “मैं झुकेगा नहीं”. सोशल मीडिया पर उनकी ये तस्वीर वायरल हो गई है।

नवाब मलिक से कुर्ला की उस जमीन के संदर्भ में पूछताछ की गई, जिसे उन्होंने कई साल पहले कौड़ियों के दाम खरीदा था। यह आरोप पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस(Devendra Fadnavis) ने मलिक पर लगाया था। कुछ महीने पहले देवेंद्र फडणवीस ने एक प्रेस कांफ्रेंस में मलिक पर गंभीर आरोप लगते हुए कहा था कि मलिक परिवार ने इस जमीन की कीमत को साढ़े तीन करोड़ रुपए दिखाए, ताकि स्टैम्प ड्यूटी कम भरनी पड़े। जब इसका पेमेंट करने की बात आई तब इसकी कीमत 25 रुपये प्रति स्क्वायर फुट की दर से बताई गई लेकिन पेमेंट 15 रुपये प्रति स्क्वायर फीट के रेट से किया गया। मलिक पर आरोप है कि उन्होंने यह जमीन अंडरवर्ल्ड के लोगों से खरीदी थी।

कुछ दिनों पहले ईडी ने इकबाल कासकर को पूछताछ के लिए अपनी हिरासत में लिया था। जानकारी के मुताबिक इकबाल की गवाही पर ईडी की टीम ने नवाब मलिक से पूछताछ शुरू की है।

नवाब मलिक पर शरद पवार की प्रतिक्रिया
शरद पवार बोले कि नवाब मलिक काफी समय से बीजेपी के खिलाफ बोल रहे हैं। ईडी की यह कार्रवाई उसी के परिणामस्वरूप हैं। कई दशकों पहले मुझपर भी इसी प्रकार का आरोप लगाया गया था। अब नवाब मलिक को भी दाऊद इब्राहिम से जोड़ा जा रहा है। मुझे इस बात का अंदेशा था कि आने वाले दिनों में नवाब को इस तरह से परेशान किया जाएगा।

नवाब मालिक और समीर वानखेड़े विवाद
महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने पिछले साल एनसीबी के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ भी कई संगीन आरोप लगाए थे। जिसके बाद दोनों ही तरफ से एक दूसरे के ऊपर जम के आरोप-प्रत्यारोप हुए थे। नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े को उगाही का रैकेट चलाने वाला अधिकारी बताया था। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा था कि वानखेड़े ने फर्जी दस्तावेजों के जरिए सरकारी नौकरी पाई है। इसके अलावा मलिक ने उनके ऊपर नाबालिग होने के बावजूद बार एंड रेस्टोरेंट का लाइसेंस लेने का भी आरोप लगाया था।