जंगली जानवरों की प्रवासी प्रजातियों’ के संरक्षण पर मेजबानी करेगा भारत

संयुक्त राष्ट्र की संस्था वन्यजीवों की प्रवासी प्रजातियों के संरक्षण और संवर्धन के लिए 13वां अधिवेशन करने जा रही है, जिसकी मेजबानी भारत करेगा।

15 से 22 फरवरी तक होने वाला COP 13 गुजरात के गांधीनगर में होगा, लेकिन 17 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अधिवेशन का उद्घाटन करेंगे। इसकी जानकारी पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने दी और कहा कि इस अधिवेशन में 15 देशों के मंत्री, 18 राज्यों के वन और पर्यावरण मंत्री समेत 130 देश सहभागी बनेंगे.

इसमें देश-विदेश के विशेषज्ञों के अलावा वैज्ञानिकों की मौजूदगी भी देखने को मिलेगी। जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण के कारण होने वाली समस्याओं समेत विज्ञान के उन नए तरीकों पर भी इस अधिवेशन में चर्चा होगी, जिसके जरिए वन्यजीवों के संवर्धन और संरक्षण को और बेहतर किया जा सके।